खाना पकाने में आगे भारतीय

कोलकाता | समाचार डेस्क: भारत के लोग खाना पकाने में दुनिया में सबसे आगे हैं. कहने का तात्पर्य है कि भारतीय औसतन दुनिया के अन्य देशों की तुलना में ज्यादा देर तक खाना पकाते हैं शायद यही कारण हे कि भारत का खाना चटखारे लेकर खाया जाता है. भारत के लोग खाना बनाने और खाने के शौकीन होते हैं, और यहां के लोग खाना बनाने में भी अन्य देशों की अपेक्षा ज्यादा समय बिताते हैं.

सोमवार को एक शोध की रिपोर्ट में बताया गया कि भारत और यूक्रेन के लोग एक सप्ताह में 13 से ज्यादा घंटे खाना बनाने में बिताते हैं, जबकि इस संबंध में अंतर्राष्ट्रीय औसत साढ़े छह घंटे प्रति सप्ताह से भी कम है. अध्ययन में बताया गया कि दक्षिण अफ्रीका में लोग एक सप्ताह में औसतन साढ़े नौ घंटे खाना बनाने में बिताते हैं. इंडोनेशिया के लोग एक सप्ताह में लगभग आठ घंटे और इटली के लोग एक सप्ताह में औसतन सात घंटे का समय खाना बनाने में बिताते हैं.

जर्मनी के बाजार शोधकर्ता जीएफके द्वारा किए गए अध्ययन के मुताबिक, जिन देशों के लोग प्रति सप्ताह खाना बनाने में कम से कम समय बिताते हैं उनमें ब्राजील में लगभग पांच घंटे, तुर्की में पांच घंटों से कुछ कम, दक्षिण कोरिया में लगभग चार घंटे शामिल हैं. इन देशों में खाना बनाने में कम समय बिताने के पीछे संभवत: वहां घर से बाहर सस्ती दर पर अच्छा भोजन उपलब्ध होना है.

शोध में अर्जेटीना, आस्ट्रेलिया, बेल्जियम, ब्राजील, ब्रिटेन, कनाडा, चीन, फ्रांस, जर्मनी, भारत, इंडोनेशिया, इटली, मेक्सिको, पोलैंड, रूस, दक्षिण अफ्रीका, दक्षिण कोरिया, स्पेन, स्वीडन, तुर्की, यूक्रेन और अमरीका के 15 साल और उससे अधिक उम्र के 27,000 लोगों का साक्षात्कार किया गया.

शोध में बताया गया कि वैश्विक स्तर पर 29 फीसदी लोगों ने दावा किया कि उन्हें भोजन और भोजन पकाने का अच्छा ज्ञान है. खाना बनाने का अच्छा अनुभव रखने वाले लोगों में पुरुषों की अपेक्षा महिलाओं की प्रतिशत अधिक था.

शोध के मुताबिक, महिलाएं व्यंजन बनाने में एक सप्ताह में सात घंटों से ज्यादा और पुरुष पांच घंटों का समय बिताते हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *