छत्तीसगढ़ में किस मोबाइल कंपनी का कितना कवरेज?

रायपुर | संवाददाता: छत्तीसगढ़ के ग्रामीण इलाकों में दूरसंचार व्यवस्था कछुआ गति से बढ़ रही है. अगर आप नया मोबाइल सिम कार्ड लेने वाले हैं तो यह रिपोर्ट आपके लिये ही है.

राज्य के 20279 गांवों में से लगभग आधे गांवों में संचार व्यवस्था पहुंची ही नहीं है. रमन सिंह की सरकार में करोड़ों रुपये के लाखों सेलफोन बांटने के बाद भी गांवों में कवरेज ही लापता है.


सरकार का दावा है कि 2019-20 में छत्तीसगढ़ के ग्रामीण इलाकों में दूरसंचार कंपनियां 2631 टावर लगाने वाली हैं.

बीएसएनएल

आंकड़े बताते हैं कि 2017 में राज्य के 12,398 गांवों में बीएसएनएल का कवरेज था, जो 2018 में 12436 तक पहुंचा. पिछले साल 31 दिसंबर तक बीएनएनएल के कवरेज वाले गांवों की संख्या 12624 तक पहुंची.

एयरटेल

इसी तरह एयरटेल की बात करें तो राज्य में 2016-17 में कुल 12159 गांवों में एयरटेल का कवरेज था. 2017-18 में एयरटेल ने केवल 2 गांवों में बढ़ोत्तरी की और यह आंकड़ा 12161 तक पहुंचा. 2019 में एयरटेल ने दो और गांवों तक अपनी पहुंच बढ़ाई है. आज की तारीख में एयरटेल का कवरेज 12163 गांवों तक है.

रिलायंस जियो

2016 में रिलायंस जियो का कवरेज एरिया 3904 गांवों तक था. लेकिन गांवों में कवरेज सुविधा बढ़ी और 2017-18 में यह आंकड़ा 10481 जा पहुंचा. 2019 में यह आंकड़ा 14830 गांवों तक पहुंच गया है.

आइडिया

आइडिया का नेटवर्क 2016-17 में 13,197 गावों तक था, जो 2017-18 में 13,260 गांवों तक पहुंच गया. लेकिन चकित करने वाली बात है कि 2019 में यह आंकड़ा घट कर 13234 गांवों तक रह गया.

वोडाफोन

वोडाफोन ने 2016-17 में छत्तीसगढ़ के 2221 गांवों में अपना नेटवर्क कवरेज उपलब्ध कराया था. 2017-18 में वोडाफोन के इस आंकड़े में मामूली बढ़ोत्तरी हुई और यह 2233 गांवों तक पहुंचा. 2019 में यह आंकड़ा 13234 जा पहुंचा.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!