बस्तर में सीआरपीएफ की 7 बटालियन और

रायपुर | संवाददाता: छत्तीसगढ़ के दक्षिण बस्तर में सीआरपीएफ की सात और बटालियन तैनात की जायेगी. लगभग सात हज़ार और जवानों की तैनाती के बाद बस्तर में सुरक्षाबलों की संख्या 60 हज़ार के आसपास हो जायेगी. अभी सीआरपीएफ की 30 बटालियन छत्तीसगढ़ में तैनात हैं.

सीआरपीएफ की सात बटालियन पश्चिम बंगाल, बिहार और झारखंड में तैनात हैं. माना जा रहा है कि इन इलाकों में माओवादी गतिविधियां काबू में हैं, इसलिये इन राज्यों से बटालियन को वापस बुलवाया जा रहा है.


गृह मंत्रालय के सूत्रों के अनुसार पश्चिम बंगाल से तीन, बिहार से दो, उत्तरप्रदेश और झारखंड से सीआरपीएफ की एक-एक बटालियन को वापस बुलाया जा रहा है. उत्तर प्रदेश ऐसा राज्य है, जहां पिछले कुछ सालों में माओवादी हिंसा की एक भी घटना नहीं हुई है. अक्टूबर-नवंबर तक इन सभी बटालियन को बस्तर में तैनात किया जायेगा.

इस साल अक्टूबर के बाद राज्य में विधानसभा के चुनाव होने हैं. ऐसे में बस्तर जैसे माओवाद प्रभावित इलाकों में अतिरिक्त बटालियन की तैनाती को चुनाव के दौरान अतिरिक्त सुरक्षा की दृष्टि से भी महत्वपूर्ण माना जा रहा है.

पुलिस का दावा है कि छत्तीसगढ़ के बस्तर में यूं भी माओवादियों से सुरक्षाबल के जवान सीधा मुकाबला कर रहे हैं. पिछले साल भर में उन्होंने बड़ी संख्या में माओवादियों को मार गिराया है या उन्हें समर्पण के लिये बाध्य किया है. छत्तीसगढ़ में माओवादी ऑपरेशन के पुलिस महानिदेशक डीएम अवस्थी का मानना है कि पिछले साल भर में जिस तरह की उपलब्धि सरकार ने हासिल की है, उससे जवान उत्साहित हैं और वे हर मुश्किल का मुकाबला करने के लिये तैयार हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!