निर्दयी आईएस ने पिजरें में 43 इराकियों को जलाया

बगदाद | समाचार डेस्क: आतंकवादी संगठन इस्लामिक स्टेट के निर्दयी आतंकवादियों ने इराक के पश्चिमी प्रांत अनबर में 43 लोगों को जिंदा जला दिया. उल्लेखनीय है कि इससे पहले भी इस्लामिक स्टेट के आतंकियों ने जॉर्डन के पायलट को पिंजरें में बंद करके जिंदा जला दिया था. उससे पहले इस्लामिक स्टेट के आतंकवादी पश्चिमी पत्रकारों का सिर कलम करते दिखाई दे रहे थे.

एक प्रांतीय सुरक्षा सूत्र ने शनिवार को यह जानकारी दी.


समाचार एजेंसी सिन्हुआ ने एक सूत्र के हवाले से कहा कि इससे पहले आईएस ने युद्धग्रस्त अल-बगदादी में अबू-ओबैद सुन्नी जनजाति के 43 लोगों को बंधक बनाया था.

बताया जाता है कि बंधक बनाए गए लोग स्थानीय पुलिसकर्मी और सरकार समर्थित साहवा अर्धसैनिक समूह के सदस्य थे. सभी बंधकों को हीट ले जाया गया और वहां उन्हें लोहे के पिंजरों में बंद कर जिंदा जला दिया गया.

इससे पहले आईएस आतंकवादियों द्वारा पिछले 10 दिनों के दौरान अल-बगदादी पर किए गए हमलों और पास में स्थित अमेरिकी नौसेना के ऐन अल-असद शिविर पर किए गए हमले में कोई 70 व्यक्ति मारे गए थे.

ऐन अल-असद सैन्य शिविर का इस्तेमाल इराकी सैन्य बलों और करीब 300 अमरीकी नौसैनिकों के सैन्य प्रशिक्षकों और सलाहकारों द्वारा किया जाता है.

सूत्र ने कहा कि आतंकवादियों ने अल-बगदादी के पड़ोस में स्थित एक इलाके को घेर लिया है, जहां सुरक्षा बलों और साहवा लड़ाकों के दर्जनों परिवार रहते हैं.

सूत्र ने कहा कि यहां के निवासी खाद्य पदार्थो और पेयजल के गंभीर संकट का सामना कर रहे हैं, तथा उनके पास हथियार और गोला-बारूद की भी भारी कमी है.

उल्लेखनीय है कि इराक के सबसे बड़े प्रांत अनबर के करीब 80 फीसदी हिस्से पर इस्लामिक स्टेट ने कब्जा कर लिया है और वह इससे आगे बगदाद की ओर कूच करने की तैयारी में है. लेकिन सुरक्षा बलों और शिया विद्रोहियों के लगातार हमले की वजह से वे ऐसा नहीं कर पा रहे हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!