7 मिनट में 63 लाख की डकैती

जांजगीर-चांपा. संवाददाता: चांपा के रिहायशी इलाके में रविवार रात करीब 63 लाख रुपए की डकैती हो गई. छत्तीसगढ़ में अब तक यह सबसे बड़ी डकैती है. डकैतों ने ऑफिस के गार्ड को अपने कब्जे में लेकर वारदात को अंजाम दिया. डकैतों के भागने के बाद सूचना मिलने पर एसपी और आईजी मौके पर पहुंच गए. उन्होंने डकैतों को पकड़ने के लिए रात में चार टीमें बनाई हैं.

पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार मुंबई की राइटर सेफ गार्ड नाम की कंपनी द्वारा शराब दुकान की राशि कलेक्शन करने का ठेका लिया गया है. चांपा के रिहायशी इलाके में जगदल्ला के ऑफिस में सुबह 11 से रात करीब 2 बजे तक राशि का कलेक्शन होता है. यहां से राशि बैंक या फिर हेड ऑफिस बिलासपुर में जमा की जाती है. शनिवार-रविवार होने की वजह से दोनों दिनों का कलेक्शन न तो बैंक में जमा किया गया था और न ही बिलासपुर हेड ऑफिस में. चांपा के कलेक्शन ऑफिस में दोनों दिनों का कलेक्शन करीब 1 करोड़ 10 लाख रुपए थे.


रविवार रात करीब 10:30 बजे हथियारों से लैस डकैत ऑफिस में पहुंचे. डकैतों ने पहले ऑफिस के गार्ड को अपने कब्जे में लिया. इसके बाद एक लॉकर को चॉबी से खोला और करीब 5 से 7 मिनट में करीब 63 लाख रुपए बैग में भरकर फरार हो गए. डकैतों ने दूसरे लॉकर हो हाथ तक नहीं लगाया. फरार होने से पहले डकैतों ने गार्ड जितेंद्र सिंह और अभय बजाज से जमकर मारपीट की. पूरी घटना ऑफिस में लगे सीसीटीवी में कैद है. डकैतों के फरार होने के बाद सूचना मिलते ही एसपी अजय यादव दलबल के साथ मौके पर पहुंचे. देर रात आईजी पुरुषोत्तम गौतम भी पहुंच गए थे.

छत्तीसगढ़ी में बातचीत कर रहे थे डकैत
एसपी अजय यादव के मुताबिक जिस तरह से रिहायशी इलाके में रात के 10:30 बजे 63 लाख की डकैती हुई है, उससे लग रहा है कि डकैतों का स्थानीय लिंक है. सभी डकैतों की उम्र 25 से 30 साल के बीच बताई जा रही है. ये डकैत छत्तीसगढ़ी में बात कर रहे थे.

सीमावर्ती राज्यों में जाएगी टीम
एसपी अजय यादव ने बताया कि डकैती डालने के बाद डकैत सीमावर्ती राज्यों में जाकर छिप सकते हैं. इसलिए पुलिस की टीमें छत्तीसगढ़ से लगे हुए राज्यों में जांच करने जाएगी.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!