DDCA करेगी केजरीवाल पर केस

नई दिल्ली | समाचार डेस्क: डीडीसीए केजरीवाल तथा कीर्ति आज़ाद पर मानहानि का दावा करेगी. दिल्ली एवं जिला क्रिकेट संघ के कार्यवाहक अध्यक्ष चेतन चौहान ने बुधवार को खिलाड़ियों के चयन को लेकर डीडीसीए पर लगाए गए दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के आरोपों को ‘आधारहीन’ बताया. डीडीसीए के इस समय कार्यवाहक अध्यक्ष चौहान ने यह भी कहा कि डीडीसीए केजरीवाल और भारतीय जनता पार्टी से निलंबित कर दिए सांसद कीर्ति आजाद के खिलाफ मानहानि का मुकदमा करेगी.

केजरीवाल ने मंगलवार को आरोप लगाया था कि डीडीसीए के एक अधिकारी ने एक खिलाड़ी के चयन के लिए उसकी मां के साथ यौन संबंध की मांग रखी थी.


चौहान ने यहां एक संवाददाता सम्मेलन में कहा, “हम पर लगाए गए आरोपों के संबंध में हमारे पास कोई सूचना नहीं है. किसी ने भी हमसे ऐसी कोई शिकायत नहीं की. अगर किसी को शिकायत है तो उनका स्वागत है. वे आएं हमें अपनी शिकायत बताएं और हम उनके नाम और उनकी सूचना को गोपनीय रखेंगे. निश्चित तौर पर यह बेहद गंभीर मसला है, जिसका समाधान सर्वोच्च प्राथमिकता होगी.”

पूर्व क्रिकेट खिलाड़ी चौहान ने आगे कहा, “मैं मामले की गंभीरता को समझ सकता हूं. अगर किसी व्यक्ति को कोई भी शिकायत है तो वह हमें बताए. हम उस सूचना को गोपनीय रखेंगे और दोषी व्यक्ति के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी. मुझे हैरानी हो रही है कि आखिर लोग हम पर ऐसे आधारहीन आरोप क्यों लगा रहे हैं. आखिर लोग बिना किसी सबूत के ऐसे आरोप क्यों लगा रहे हैं.”

केजरीवाल ने मंगलवार को समाचार चैनल एनडीटीवी को दिए साक्षात्कार में कहा था कि खिलाड़ियों के चयन के लिए यौन संबंधों की मांग की जाती थी.

गौरतलब है कि केजरीवाल सरकार ने डीडीसीए मामलों की जांच के लिए एक जांच आयोग गठित कर दी है.

केजरीवाल ने कहा था, “आपको जानकर हैरानी होगी कि एक वरिष्ठ पत्रकार ने मुझे फोन कर बताया कि उसके बेटे का चयन हो गया था. लेकिन उसके बेटे का नाम चयनित खिलाड़ियों की सूची में शामिल नहीं था. क्या आप इस पर विश्वास कर सकते हैं..अगले दिन उनकी पत्नी के पास एक एसएमएस आता है कि ‘आप मेरे घर आ जाइए आपके बेटे का चयन हो जाएगा’.”

चौहान ने हालांकि इन आरोपों को खारिज किया है. उन्होंने इस बात से भी इनकार किया है कि विभिन्न आयुवर्ग की टीमों में चयन के लिए पैसे लिए गए.

चौहान ने कहा कि अगर ये आरोप सही होते तो दिल्ली राष्ट्रीय टीम में खेलने की योग्यता रखने वाले खिलाड़ी दे ही नहीं पाता.

चौहान ने कहा, “पैसे देकर चयनित किए जाने के मामले में मैं जानना चाहूंगा कि किसने पैसे लिए, उसे यह पैसे कहां दिए गए, डीडीसीए के किसी अधिकारी ने कब पैसे लिए और ऐसा कोई भी अपराध कब किया. अगर आपको शिकायत करनी है तो करें, लेकिन मैं अनुरोध करना चाहूंगा कि लोग हवा में बातें न करें. यह सिर्फ हमें बदनाम करने वाला साबित होगा. अब तक हम चुप थे. लेकिन हम पर जिस तरह के आरोप लगाए गए, वे काफी गंभीर हैं, इसलिए हमें आगे आना पड़ा और अपनी बात रखनी पड़ी.”

चौहान ने फिरोजशाह कोटला स्टेडियम के पुनर्निर्माण में वित्तीय अनियमितता के आरोपों को नकार दिया.

उन्होंने कहा, “हमने किसी कंजूस की तरह पैसे खर्च किए. स्टेडियम के निर्माण, नवीनीकरण और अन्य निर्माण कार्यो पर सिर्फ 114 करोड़ रुपये खर्च हुए. सभी कार्य बहुत ही मितव्ययिता के साथ किया गया. हम डीडीसीए में पूर्ण पारदर्शिता के पक्षधर हैं. आम आदमी पार्टी द्वारा लगाए गए वित्तीय अनियमितता के आरोपों को हम पूरी तरह खारिज करते हैं.”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!