मेरी निष्ठा सिर्फ कांग्रेस के प्रति: करुणा

रतनपुर | उस्मान कुरैशी: बिलासपुर लोकसभा के सीट के कांगेस प्रत्याशी करूणा शुक्ला ने कहा कि मेरी निष्ठा मेरा समर्पण मेरा सारा विचार धारा अब जो कुछ भी है वो सब कुछ मेरा कांग्रेस पार्टी के लिए है. मैं बड़ी नेता नही हूं. मैं कांग्रेस पार्टी की प्राथमिक पाठषाला की पहली कक्षा की विद्यार्थी हूं.

सोमवार को बेलतरा में विधानसभा स्तरीय कांग्रेस कार्यकर्ता सम्मेलन आयोजित हुआ. सम्मेलन में कार्यकताओं को संबोधित करते कांग्रेस प्रत्याशी करूणा शुक्ला ने कहा कि जिस दिन मैने भारतीय जनता पार्टी से इस्तीफा दिया वो सारे पद वो सारे विचार वो सारा परिश्रम वो सारी सदिच्छा जितनी थी जिनके लिए थी वो मैं जमीन में दफन कर आ गई हूं.

मेरी निष्ठा मेरा समर्पण मेरा सारा विचार धारा अब जो कुछ भी है वो सब कुछ मेरा कांग्रेस पार्टी के लिए है. मैं बड़ी नेता नही हूं. मैं कांग्रेस पार्टी की प्राथमिक पाठषाला की पहली कक्षा की विद्यार्थी हूं. आप सब जो कुछ यहां बैठे है वो सब मेरे सीनियर है. मैं आप सब के मार्गदर्शन में काम करूंगी. चुनाव का समय है. बिलासपुर लोकसभा हमको कैसे जितना है इस विषय पर हमको गौर करना है.

विधान सभा चुनाव में आप सब ने बहुत मेहनत की. मै सबकी पीड़ा समझ रही हूं. कार्यकर्ता अपनी पराकाष्ठा पर काम करता है और काम बिगाड़ने वाले सामने आ जाते है तो पीड़ा ज्यादा दुखदायी होता है. उन्होने बीती बातों को बिसारने की बात कहते हुए कहा कि खराब मन से बड़े काम नही होते. जब मन उत्साहित होगा प्रफुल्लित होगा तभी बड़ा काम कर सकते है. दुख पीड़ा को छोड़़कर जहां कमजोर हो गए है वहां ध्यान दीजीए.

श्रीमती शुक्ला ने कहा कि भाजपा क्यो आगे हो जाती है. उनके कार्यकर्ता आप से ज्यादा नही है. दो सांसदों से वे 186 पर पहूंच गए. 540 में 425 सीटों से होकर आज हम गठबंधन की सरकार पर आ गए. हमको इस पर विचार करनी चाहिए. सबसे पुरानी सबसे मजबूत सबसे ज्यादा नेताओं सबसे ज्यादा प्रधानमंत्री देने सबसे ज्यादा शहीद होने वाले लोग कांग्रेस पार्टी से है. उस पार्टी के हम कार्यकर्ता है. क्या वजह है. छत्तीसगढ़ में पिछड़ गए है. छत्तीसगढ़ में बेलतरा में पिछड़ गए है.

उन्होंने कहा कि हम कार्यकर्ता पहले है नेता बाद में हमे बूथ की चिंता करनी चाहिए. भाजपा कार्यकर्ता बूथ की चिंता करता है बूथ को मजबूत बनाता है. हमारी पर्ची ठीक से नही बंटती. पर्ची का संबंध घर घर से है. कार्यकर्ता ईमानदारी से घर घर जाकर पर्ची बांटें तो किसी माई के लाल में दम नही है कि कांग्रेस को हरा सके.नेता वही बनता है जिसकी जमीन मजबूत होती है. मै जानती हूं हार का अपमान खून के घूट पीकर झेला जाता है. उन्होने कहा कि तीस दिनों का समय है. अपने अपने बूथ बूथ की चिंता करें हम मांगने निकले है मान अपमान सम्मान की चिंता नही करनी चाहिए. आप संघर्श शील है जुझारू है. मुझे विश्वास है कि सफलता मिलेगी.

सम्मेलन में मंच से कार्यकताओं ने पार्टी के बागी व भीतर घातियों पर जमकर भड़ास निकाली. साथ ही सभी ने मिलजुलकर पार्टी के लिए समर्पित रूप से काम करने की भी बात कही. इस अवसर पर बड़ी संख्या में बेलतरा विधानसभा क्षेत्र के कांग्रेस कार्यकताओं पदाधिकारियों की मौजूदगी रही.

सम्मेलन के बाद क्षेत्र की समस्याओं पर पत्रकारों से चर्चा करते श्रीमती शुक्ला ने कहा कि बेलतरा विधानसभा क्षेत्र में एनटीपीसी विस्थापितों की बड़ी समस्याएं है. प्रभावितों को अब तक नौकरी नही मिली है. किसानों की जमीन चली गई है मुआवजा नही मिला है.

श्रीमति शुक्ला ने कहा कि प्रदेश के किसानों को न तो धान का घोशित समर्थन मूल्य मिला है और ना ही बोनस मिला हैं. हाल ही में हुई बारिश से फसलों को काफी नुकसान पहूंचा है. छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री ने किसानों को कोई राहत नही पहूंचाई है.

विरोधियों द्वारा आपके विश्वसनीयता पर सवाल उठाए जाने पर श्रीमती शुक्ला ने कहा कि जिसने 32 वर्षों तक अपना जीवन वार्ड से राष्ट्रय स्तर पर समर्पित किया हो मै वो सब दफन करके आ गई हूं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *