बेटे ने करवाई भारद्वाज की हत्या

दिल्ली पुलिस ने अरबपति कारोबारी और बसपा के नेता दीपक भारद्वाज की हत्या मामले में मुख्य आरोपी उनके छोटे बेटे नितेश भारद्वाज को गिरफ्तार कर लिया है. नितेश के अलावा प्रापर्टी डीलिंग करने वाले वकील बलजीत सिंह सहरावत को भी गिरफ्तार किया गया है. पुलिस का कहना है कि दीपक ने वकील से 6 करोड़ रुपए में पिता की हत्या की सुपारी दी थी.

हत्या के पीछे की मंशा बताते हुए पुलिस ने कहा है कि दरअसल पूरा मामला भारद्वाज की करोड़ों की संपत्ति से जुड़ा हुआ है. नितेश भारद्वाज इस बात से नाराज था कि उसके पिता अपनी संपत्ति का खुद तो उपभोग कर रहे थे लेकिन उसे और उसकी माँ को एक अपार्टमेंट के फ्लैट में रख छोड़ा था. इसके अलावा उसे इस बात का भी शक था कि कहीं दीपक भारद्वाज अपनी संपत्ति अपनी एक महिला मित्र को न दे दें.

उल्लेखनीय है कि स्कोडा कार में आए 3 हमलावरों ने दीपक भारद्वाज की हत्या उन्हीं के फार्महाउस में कर दी थी. घटना फार्महाउस के सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गई थी. दीपक भारद्वाज की हत्या के मामले में उनकी पत्नी रमेश कुमारी ने दीपक की गर्लफ्रेंड को जिम्मेवार ठहराया था. वहीं दीपक भारद्वाज की महिला मित्र ने इसके लिये पत्नी औऱ बेटे को जिम्मेवार ठहराया था. महिला का आरोप था कि इसी कारण दीपक की हत्या कराई गई है.

अब दिल्ली पुलिस की जाँच में यह पता चला है कि दीपक ने वकील बलजीत सिंह से 6 करोड़ में पिता की हत्या का अनुबंध किया, जिसने स्वामी प्रतिभानंद को दो करोड़ में सुपारी दी. वहीं स्वामी ने दीपक भारद्वाज के मर्डर करने के बदले दीपक को एक करोड़ रुपये दिए जिसने साथी सुनील और एक अन्य के साथ मिल कर इस हत्याकांड को अंजाम दिया गया.

पुलिस के हाथ आए नितेश भारद्वाज को पिता की हत्या करवाने को कोई अफसोस नहीं है. उसका कहना है कि उसके पिता अन्य महिलाओं पर बहुत पैसा खर्च करते थे और उसे, उसके भाई और उसकी माँ का बिल्कुल ख्याल नहीं रखते थे. अपने पिता की इन्हीं आदतों के चलते उसने इस हत्याकांड को अंजाम दिया.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *