नवविवाहिता पर तेजाब हमला, देखें

नई दिल्ली | एजेंसी: देश की राजधानी दिल्ली की सड़के फिर से शर्मशार हो गई हैं. मंगलवार को दो अज्ञात लोगों ने नवविवाहिता महिला चिकित्सक पर तेजाब से हमला कर दिया. भारतीय समाज में लड़कियों तथा महिलाओं पर कायर तेजाब का हमला करके अपनी भड़ास निकालते हैं. सबसे हैरानी की बात है कि तेजाब के हमले के बाद सबसे जरूरी है कि पीड़िता को अस्पताल पहुंचाने के पहले उसके मुंह को पानी से धो दिया जाये, इसे कोई नहीं करता है. उल्लेखनीय है कि पानी डालने से तेजाब पतला हो जाता है तथा उसकी दुष्परिणाम कम हो जाता है, तमाम चिकित्सीय प्रयासों के बाद जिंदा बची लड़की को जीवन भर ताने झेलने पड़ते हैं. दिल्ली पुलिस ने बताया कि कर्मचारी राज्य बीमा अस्पताल में कार्यरत 30 वर्षीय अमृता कौर पर सुबह करीब 9.30 बजे पश्चिमी दिल्ली के राजौरी गार्डन इलाके में तेजाब से हमला किया गया.

पुलिस ने कहा कि अज्ञात हमलावर फरार होने से पहले पीड़िता का बैग भी छीनकर ले गए.

वह बाली नगर इलाके में स्थित ईएसआई अस्पताल जा रही थी. अस्पताल और घटनास्थल के बीच चंद किलोमीटर की दूरी है.

एक पुलिस अधिकारी ने कहा कि जिस समय महिला पर हमला हुआ वह अपना दुपहिया वाहन चला रही थी.

अधिकारियों के मुताबिक, तेजाब के कारण पीड़िता के चेहरे का दाहिना हिस्सा और सिर जल गया है.

अधिकारियों ने कहा कि महिला को अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान ले जाया गया, जहां पर उसकी हालत खतरे से बाहर बताई जा रही है.

पुलिस को दिए अपने बयान में पीड़िता ने कहा, “जब मैंने एक फोन कॉल उठाने के लिए अपने दोपहिया वाहन को रोका तो मोटरसाइकिल पर सवार दो युवक मेरे पीछे से आए. वह मेरा थैला खींचने लगे, जब मैंने उनका विरोध किया तो उनमें से एक ने मेरे सिर पर तेजाब फेंक दिया.”

अधिकारियों ने कहा कि पुलिस वारदात की सीसीटीवी फुटेज की जांच करेगी और अपराधियों को जल्द से जल्द गिरफ्तार करेगी.

राजौरी गार्डन इलाके में रहने वाली इस महिला की आठ महीने पहले ही शादी हुई थी.

तेजाब हमला-

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *