‘फर्जी चंदा’ बनाम ‘उपद्रवी गोत्र’

नई दिल्ली | समाचार डेस्क: भाजपा ने आप पर ‘फर्जी चंदे’ का आरोप लगाया तो आप ने उनके विज्ञापन के ‘उपद्रवी गोत्र’ पर पलटवार किया. सोमवार के दिन दिल्ली विधानसभा चुनाव प्रचार अपने उफान पर था. इस दिन भाजपा नेता पीयुष गोयल ने आप पर फर्जी कंपनियों से चंदा लेने का आरोप दोहराया तो आप ने भाजपा के विज्ञापन को अग्रवाल सामज का अपमान कहा. दूसरी तरफ सोमवार को खबरिया चैनल एबीपी न्यूज द्वारा जारी किये गये दिल्ली के आकड़े बता रहें हैं कि आप को विधानसभा की 70 में से 35 तथा भाजपा को 29 सीटें मिलने की संभावना है. इस चुनावी सर्वे के आने से समाचार चैनलों पर दिल्ली के भविष्य को लेकर बहस शुरु हो गई है. इस पृष्ठभूमि में आप पर लगाये गये ‘फर्जी चंदे’ के आरोप को भाजपा की रणनीति के तौर पर देखा जा रहा है वहीं, आप को भाजपा के विज्ञापनों में ‘उपद्रवी गोत्र’ शब्द का उपयोग उनके खिलाफ प्रचार का एक और हथियार मुहैय्या करा रहा है. भारतीय जनता पार्टी ने सोमवार को आम आदमी पार्टी पर फर्जी कंपनियों से चंदा लेने का आरोप लगाया. आप के पूर्व कार्यकर्ताओं के एक समूह ने चंदा लेने में अरविंद केजरीवाल के नेतृत्व वाली पार्टी पर कदाचार का आरोप लगाया है. भाजपा नेता पीयूष गोयल ने कहा, “एक ही निदेशक के नाम से चल रही चार फर्जी कंपनियों में से आम आदमी पार्टी ने 10-11 दिनों की अवधि के दौरान प्रत्येक कंपनी से 50 लाख रुपये का चंदा लिया.”

उन्होंने कहा, “इन कंपनियों को कोई फायदा नहीं हुआ है. नियमों के मुताबिक एक कंपनी अपनी औसत वार्षिक आय का 7.5 फीसदी और तीन साल का कर राजनीतिक चंदे के रूप में दे सकती है.”


केंद्रीय मंत्री ने कहा, “जब उन कंपनियों को कोई फायदा ही नहीं हुआ था, तो वे चंदा कैसे दे सकती हैं.”

भाजपा नेता और केंद्रीय वाणिज्य एवं उद्योग राज्य मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा, “आम आदमी पार्टी फर्जी कंपनियों से चेक ले रही है, जिन्हें नापाक गतिविधियों को अंजाम देने के लिए शुरू किया गया था.”

सीतारमण ने कहा, “आप.. जब तक आप विस्तृत जवाब नहीं देते, दूसरी राजनीतिक पार्टियों को यह बताना बंद करें कि आप कितने नैतिक हैं.”

उधर, आम आदमी पार्टी के नेता अरविंद केजरीवाल को ‘उपद्रवी गोत्र’ का बताने के भाजपा के विज्ञापन पर दोनों पार्टियों ने एक दूसरे के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है. दोनों ही पार्टियों ने सोमवार को एक दूसरे के खिलाफ चुनाव आयोग में शिकायत दर्ज कराई है. आम आदमी पार्टी के नेता अरविंद केजरीवाल ने कहा कि वह सामाजिक कार्यकर्ता अन्ना हजारे के आदर्श पर चल रहे थे. अन्ना ने उनसे कहा था कि व्यक्ति में अपमान सहने की शक्ति होनी चाहिए. केजरीवाल ने कहा कि उन्होंने भाजपा के कई अपमानजनक कृत्यों को नजरअंदाज कर दिया लेकिन अब उन्होंने सीमा पार कर दी है और अब पार्टी इसकी शिकायत चुनाव आयोग में करेगी.

केजरीवाल ने ट्वीट कर लिखा, “भाजपा को क्या हो गया है, पहले उन्होंने मेरे बच्चों पर निशाना साधा, लेकिन मैं शांत रहा. अन्ना जी कहते हैं कि अपमान पीने की क्षमता होनी चाहिए.”

उन्होंने कहा, “मैंने समाज सेवा में निजी अपमान पर कभी प्रतिक्रिया नहीं की. लेकिन आज तो भाजपा ने अपने इश्तिहार में हद कर दी. उन्होंने आज पूरे अग्रवाल समाज को ही उपद्रवी बता दिया. उन्होंने मेरे गोत्र को उपद्रवी गोत्र लिख दिया.”

आप के आरोपों को खारिज करते हुए सोमवार को भाजपा ने कहा कि विज्ञापन में पार्टी ने किसी भी तरह का जातीय संबोधन नहीं किया है.

भाजपा ने आरोप लगाया है कि आप इसे धर्म और जातिगत रंग दे रही है.

चुनाव आयोग को अपनी शिकायत में भाजपा ने कहा कि आप आदर्श आचार संहिता का उल्लंघन कर रही है और भाजपा द्वारा प्रयुक्त शब्दों का अर्थ खींचकर अनावश्यक रूप से अभियोग लगा रही है.

भाजपा ने कहा, “वह पार्टी की छवि को दागदार करने का प्रयास कर रहे हैं, ताकि आप को इसका फायदा मिल सके. भाजपा जातिवाद और जाति के आधार पर मतदाताओं को बांटने में भरोसा नहीं रखती.”

भाजपा ने अपनी शिकायत में कहा, “गोत्र शब्द का इस्तेमाल रूपक के रूप में किया गया है और ‘उपद्रवी गोत्र’ के इस्तेमाल से उनका संबंध अराजक वंश से दर्शाया गया है, जिसका दावा वह खुद कर चुके हैं.”

शिकायत में भाजपा ने यह भी कहा, “अनुरोध है कि आप पार्टी और इसके राष्ट्रीय संयोजक के खिलाफ उचित कार्रवाई की जाए.”

भाजपा नेता पीयूष गोयल ने सोमवार को कहा, “यह अत्यंत खेदपूर्ण है कि कुछ पार्टियां राजनीतिक बयान को बदलने की कोशिश कर रही हैं. एक राजनीतिक पार्टी की विचारधारा को जिस अभिव्यक्ति द्वारा प्रदर्शित किया गया है उसे धर्म की दिशा में परिवर्तित किया जा रहा है.”

उन्होंने कहा, “यह उनकी विचारधारा पर राजनीतिक टिप्पणी थी, वह अराजक हैं. इस शब्द को विज्ञापन में रूपक के तौर पर इस्तेमाल किया गया था, लेकिन आप ने इसको घुमा-फिरा दिया और वह इसका गलत इस्तेमाल कर रही है.”

भाजपा नेता ने कहा, “सरल चुनाव प्रक्रिया को धार्मिक और जातिवादी रंग देने की यह आप की साजिश है. भाजपा इस संबंध में निर्वाचन आयोग से शिकायत करेगी.”

इसी बीच दिल्ली भाजपा प्रभारी प्रभात झा ने कहा कि विवाद से आने वाले चुनावों में भाजपा की संभावनाओं पर कोई फर्क नहीं पड़ेगा.

झा ने कहा, “उन्हें झूठ बोलने और तथ्यों को घुमाने की आदत है. इससे हमें कोई परेशानी नहीं है.”

विज्ञापन में केजरीवाल का एक हास्य चित्र दिख रहा है जिसमें वह कह रहे हैं कि वह गणतंत्र दिवस परेड कार्यक्रम को बिगाड़ेंगे और अगले साल गणतंत्र दिवस परेड कार्यक्रम के वीआईपी टिकट भी मांगेंगे. इसमें केजरीवाल को ‘उपद्रवी गोत्र’ का बताया गया है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!