लुटियन की दिल्ली में जला ‘पीके’ का पुतला

नई दिल्ली | मनोरंजन डेस्क: लुटियन ने जब दिल्ली की रूप रेखा बनाई थी तब उसने सोचा भी न था कि एक दिन उनके बसाये शहर में एक एलियन ‘पीके’ का पुतला फूंका जायेगा वह भी फिल्मी एलियन का. जाहिर है कि देश की राजधानी दिल्ली में आमिर खान अभिनीत फिल्म ‘पीके’ के खिलाफ तोड़फोड़ बदस्तूर जारी है. इस बात के भी कोई संकेत नहीं मिल रहें हैं कि आने वाले समय में इसे रोकने के लिये कोई कदम उठाया जायेगा. दिल्ली में विश्व हिंदू परिषद और बजरंग दल के कार्यकर्ताओं ने बुधवार को भी ‘पीके’ फिल्म के विरोध में पूर्वी दिल्ली के नन्द नगरी स्थित गगन सिनेमा के बाहर प्रदर्शन किया, और फिल्म का प्रदर्शन रुकवा दिया. बजरंग दल के दिल्ली राज्य के संयोजक नीरज दोनेरिया ने कहा, “प्रदर्शनकारी उत्तरी दिल्ली के नंद नगरी इलाके के गगन सिनेमा के बाहर सुबह तकरीबन 11.30 बजे एकत्रित हुए.”

उन्होंने कहा, “हमने फिल्म के प्रदर्शन का विरोध किया और आमिर का पुतला और पोस्टर जलाया.”

उन्होंने मांग की कि सिनेमाघर को फिल्म का प्रदर्शन रोक देना चाहिए.

प्रदर्शनकारियों ने तकरीबन 30 मिनट के लिए सुंदर नगरी इलाके को भी जाम कर दिया था.

पुलिस के अनुसार इलाके में अवरोधक लगा दिए गए हैं, और सिनेमाघर के बाहर पर्याप्त मात्रा में पुलिसकर्मी तैनात किए गए हैं.

दोनेरिया ने कहा कि विरोध प्रदर्शन तब समाप्त किया गया, जब सिनेमाघर मालिक ने आश्वासन दिया कि फिल्म का प्रदर्शन अब नहीं किया जाएगा.

विहिप दिल्ली के महामंत्री राम कृष्ण श्रीवास्तव ने कहा, “हाल में आईं कुछ फिल्मों में हिंदू मान बिंदुओं का उपहास उड़ाया जा रहा है, और फिल्म सेंसर बोर्ड आंख मींच कर इन्हें प्रमाण पत्र दिए जा रहा है. अब हिंदू चुप नहीं बैठ सकता. गृह मंत्रालय को अबिलंब संज्ञान लेकर इन पर अंकुश लगाना चाहिए.”

इस बीच उत्तर प्रदेश सरकार ने ‘पीके’ को करमुक्त घोषित कर दिया. मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने बुधवार को संवाददाताओं के साथ बातचीत के दौरान इसकी घोषणा की.

उत्तर प्रदेश सरकार के इस कदम पर अपनी प्रतिक्रिया में विहिप प्रवक्ता विनोद बंसल ने कहा कि इसमें कोई आश्चर्य की बात नहीं है.

उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश का हिन्दू जनमानस इसका उचित जबाब देगा. उन्होंने यह भी कहा कि फिल्म के विरुद्ध प्रदर्शन जारी रहेंगे.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *