केजरी-किरण-माकन का नामांकन

नई दिल्ली | एजेंसी: दिल्ली विधानसभा चुनाव के लिए बुधवार को केजरी-किरण-माकन नामांकन दाखिल करेंगे. इन उम्मीदवारों में आम आदमी पार्टी के संयोजक अरविंद केजरीवाल, भारतीय जनता पार्टी की मुख्यमंत्री पद की उम्मीदवार किरण बेदी तथा कांग्रेस नेता अजय माकन प्रमुख रूप से शामिल हैं. निर्वाचन आयोग के मुताबिक, मंगलवार तक विभिन्न राजनीतिक पार्टियों के 362 उम्मीदवार नामांकन दाखिल कर चुके थे.

नामांकन दाखिल करने वाले 362 उम्मीदवारों में कांग्रेस के 59, भाजपा के सात तथा आप के 60 उम्मीदवार शामिल हैं. नामांकन की अंतिम तिथि 21 जनवरी है.

उधर दिन भर के घटनाक्रम में भारतीय जनता पार्टी की मुख्यमंत्री पद की दावेदार किरण बेदी ने मंगलवार को आम आदमी पार्टी के संयोजक अरविंद केजरीवाल की सार्वजनिक मंच पर बहस की चुनौती को नकार दिया, लेकिन कांग्रेस महासचिव अजय माकन ने ऐसी बहस के लिए हामी भर दी है. भाजपा द्वारा बेदी को मुख्यमंत्री पद का दावेदार घोषित किए जाने के एक दिन बाद केजरीवाल ने बहस की चुनौती का दांव चला.

वहीं भाजपा ने पलटवार करते हुए केजरीवाल को ‘आई रन मैन’ जबकि किरण बेदी को ‘आयरन लेडी’ करार दिया.

बेदी को मंगलवार को भाजपा द्वारा मुख्यमंत्री पद का दावेदार घोषित किए जाने के बाद राजधानी में चुनाव अभियान में गर्माहट आ गई. इसे लेकर भाजपा, आप तथा कांग्रेस ने चुनावी अभियान तेज कर दिया.

दिल्ली के पूर्व मुख्यमंत्री केजरीवाल ने मध्य दिल्ली में एक रोड शो किया, इसके कारण वह समय पर जिलाधिकारी कार्यालय नहीं पहुंच पाए, जिसके कारण वह अपना नामांकन दाखिल नहीं कर पाए.

किरण बेदी ने कृष्णा नगर में एक जनसभा की. इसी सीट से वह चुनाव लड़ रही हैं.

केजरीवाल ने कहा कि मुख्यमंत्री पद के तीनों दावेदारों के बीच एक बहस से दिल्ली के लोगों को अपना मुख्यमंत्री चुनने में सहूलियत मिलेगी.

उन्होंने संवाददाताओं से कहा, “अजय माकन, किरण बेदी तथा मैं, तीनों के बीच एक सार्वजनिक बहस होनी चाहिए, ताकि दिल्ली के लोगों को अपना मुख्यमंत्री चुनने में सहूलियत हो.”

केजरीवाल ने ट्विटर पर एक संदेश में किरण को भाजपा की ओर से मुख्यमंत्री पद का दावेदार घोषित किए जाने पर बधाई देते हुए लिखा, “मैं आपको सार्वजनिक मंच पर बहस के लिए आमंत्रित करता हूं, जिसका संयोजन एक निष्पक्ष व्यक्ति द्वारा किया जाए और इसका प्रसारण सभी चैनलों पर हो.”

उन्होंने यह भी कहा कि किरण ने उन्हें ट्विटर पर ब्लॉक कर दिया है. केजरीवाल ने लिखा, “मैं आपको ट्विटर पर फॉलो करता रहा हूं. लेकिन अब आपने मुझे ब्लॉक कर दिया है. कृपया मुझे अनब्लॉक कीजिए.”

वहीं किरण बेदी ने कहा, “मैं चुनौती को स्वीकार करती हूं, लेकिन मैं ऐसा केवल दिल्ली विधानसभा में करूंगी. फिलहाल मेरा ध्यान सेवा कार्य पर है. आप जैसे नेता केवल बहस पर यकीन करते हैं.”

भाजपा के प्रवक्ता साम्बित पात्रा ने कहा, “आप केवल लोकप्रियता चाहते हैं. वे अपनी लोकप्रियता के लिए किरणजी का इस्तेमाल करना चाहते हैं.”

वाराणसी में प्रधानमंत्री से केजरीवाल की हार की ओर इशारा करते हुए उन्होंने कहा, “दिल्ली में मुकाबला ‘आयरन लेडी’ और ‘आई रन मैन’ के बीच है. केजरीवाल वह व्यक्ति हैं, जो प्रधानमंत्री पद के लिए मुख्यमंत्री की कुर्सी छोड़कर भाग खड़ा होते हैं.”

उन्होंने कहा कि केजरीवाल का ध्यान नाटक, धरना और बहस पर है, जबकि भाजपा विकास, लोकतंत्र व सेवा कार्य में विश्वास करती है.

साम्बित ने कहा कि दिल्ली की जनता तय करेगी कि वह एक और नाटकीय बहस चाहती है या विकास तथा सेवा कार्य.

उन्होंने कहा, “किरणजी ने केजरीवाल को ट्विटर पर एक साल पहले ही ब्लॉक कर दिया था, उन्हें तभी उनसे संपर्क करना चाहिए था.”

वहीं कांग्रेस के चुनाव प्रचार प्रभारी माकन ने कहा कि वह तीनों नेताओं के बीच सार्वजनिक बहस के लिए तैयार हैं.

माकन ने कहा, “यह केजरीवाल का नहीं, बल्कि एक टेलीविजन चैनल का विचार है. मैं इस तरह की बहस का स्वागत करता हूं.”

उल्लेखनीय है कि केजरीवाल तथा किरण बेदी दोनों ही अन्ना हजारे के भ्रष्टाचार विरोधी आंदोलन का हिस्सा थे.

साल 2013 में हुए विधानसभा चुनाव में आप 28 सीटें, जबकि भाजपा 31 सीटें जीतने में कामयाब रही थी. कांग्रेस को केवल आठ सीटों से संतोष करना पड़ा था.

दिल्ली में सात फरवरी को मतदान होना है, जबकि मतगणना 10 फरवरी को होगी.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *