दिल्ली चुनाव: दावे अपने-अपने

नई दिल्ली | एजेंसी: दिल्ली चुनाव में भाजपा और आप ने अपनी-अपनी जीत के दावे किए हैं. दिल्ली विधानसभ चुनाव के लिए शनिवार मतदान जारी है और मतदान को लेकर मतदाताओं, खासकर युवा और पहली बार मताधिकार का इस्तेमाल कर रहे लोगों में जबरदस्त उत्साह है.

मतदान सुबह आठ बजे शुरू हुआ. हालांकि शुरुआती घंटों में ऐसे इलाकों में मतदान केंद्रों पर भीड़ कम देखी गई, जहां मध्यम और उच्च मध्यम आय वर्ग के लोग रहते हैं, लेकिन उन इलाकों में जहां निम्न आय वर्ग के लोग रहते हैं, शुरू से ही मतदान केंद्रों पर भारी भीड़ देखी गई.


शुरुआती घंटों में मतदान करने वालों में पूर्व मुख्यमंत्री व आप नेता अरविंद केजरीवाल, भाजपा की मुख्यमंत्री पद की उम्मीदवार किरण बेदी, कांग्रेस नेता अजय माकन और कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी शामिल रहे.

उपराष्ट्रपति हामिद अंसारी ने भी मतदान के बाद अपनी स्याही लगी उंगली मीडिया को दिखाई.

राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी भी राष्ट्रपति भवन में बनाए गए मतदान केंद्र पर गए, लेकिन उन्होंने मतदान नहीं किया. उन्होंने वर्ष 2014 के आम चुनाव में भी यह कहते हुए मतदान नहीं किया था कि राष्ट्रपति को दलगत राजनीति से ऊपर होना चाहिए.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार सुबह दिल्ली के सभी मतदाताओं से वोट डालने की अपील की.

मोदी ने ट्विटर पर लिखा, “मेरा निवेदन है कि आज दिल्ली के सभी मतदाता रिकार्ड संख्या में मतदान करें. मैं विशेष रूप से अपने युवा मित्रों से बड़ी संख्या में मतदान करने का अनुरोध करता हूं.”

वहीं, केंद्रीय मंत्री व भाजपा के वरिष्ठ नेता हर्षवर्धन ने कृष्णा नगर विधानसभा क्षेत्र में अपनी मां के साथ मतदान किया और भाजपा की जीत को लेकर भरोसा जताया. उन्होंने कहा, “मुझे भाजपा की जीत का सौ फीसदी भरोसा है.”

भाजपा की मुख्यमंत्री पद की उम्मीदवार किरण बेदी ने शनिवार को दक्षिणी दिल्ली के एक सरकारी स्कूल में बने मतदान केंद्र पर वोट डाला. बाद में उंगलियों से ‘वी’ का निशान बनाते हुए उन्होंने लोगों से स्वच्छ, शिक्षित और सुरक्षित दिल्ली के लिए वोट करने की अपील की.

किरण ने मतदान करने के बाद कहा, “आज दिल्ली के लिए ऐतिहासिक दिन है. यह उनके लिए एक ऐसा दिन है, जब उन्हें यह तय करना है कि उन्हें कैसी दिल्ली चाहिए.”

वहीं, आप नेता केजरीवाल ने सुबह दिल्ली के मतदाताओं से बड़ी संख्या में मतदान करने की अपील की. उन्होंने कहा, “अपना वोट डालें, आपकी निश्चित तौर पर जीत होगी.” उन्होंने लोगों से शराब या धन बांटने वाली राजनीतिक पार्टियों के लिए मतदान नहीं करने की अपील भी की.

पत्रकार से राजनेता बने आप के आशुतोष ने कहा, “हमें भरोसा है कि हम जीत रहे हैं और दिल्ली में सरकार बनाने जा रहे हैं. हमारे आकलन के मुताबिक, हमें 40-42 सीटें मिलेंगी.”

कांग्रेस नेता माकन ने कहा कि वह भी अपनी पार्टी की जीत को लेकर आश्वस्त हैं. उन्होंने कहा, “कांग्रेस अपने वादे पूरे कर सकती है.”

निर्वाचन आयोग के अधिकारियों ने बताया कि दिल्ली के 1.33 करोड़ मतदाताओं में से एक-चौथाई दोपहर तक अपने मताधिकार का इस्तेमाल कर चुके थे. पुलिस ने कहीं भी बड़ी गड़बड़ी की रिपोर्ट नहीं दी है.

दिल्ली विधानसभा चुनाव में 673 उम्मीदवार मैदान में हैं. मतदान के लिए स्कूलों में और अन्य स्थानों पर 11,763 केंद्र बनाए गए हैं.

जिन इलाकों में मध्यम आय वर्ग और उच्च आय वर्ग के लोग रहते हैं, उनमें सबसे पहले मतदान करने वालों में अधिकांश सुबह टहलने वाले लोग थे. दिल्ली से सटे हरियाणा और उत्तर प्रदेश के इलाकों में नौकरी के लिए जाने वाले भी सुबह सबसे पहले मतदान करने वालों में शामिल रहे.

दक्षिणी दिल्ली के मालवीय नगर में अपने मताधिकार का इस्तेमाल करने वाले रवि कुमार ने मतदान के बाद अपनी उंगली पर लगी स्याही दिखाते हुए कहा, “मैंने अपना वोट डाला.”

वहीं, पूर्वी दिल्ली के निवासी राजेंद्र शर्मा ने कहा, “वोट डालना हमारी जिम्मेदारी और अधिकार, दोनों है.”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!