धरमलाल ने सरकारी बकाया छुपाया

बिलासपुर | संवाददाता: छत्तीसगढ़ विधानसभा अध्यक्ष व बिल्हा विधानसभा क्षेत्र के भाजपा प्रत्याशी धरमलाल कौशिक के खिलाफ नामांकन फार्म में गलत जानकारी देने की शिकायत मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी से की गयी है. कौशिक पर आरोप है कि उन्होंने सरकारी बकाया होने की जानकारी छिपाई है.

पूर्व विधायक वीरेन्द्र पांडेय ने मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी को दिए गए शिकायत में बताया है कि बिल्हा विधानसभा क्षेत्र के भाजपा प्रत्याशी धरमलाल कौशिक ने अपने नामांकन पत्र में सरकारी बकाया को निरंक बताया है जो कि सर्वथा गलत है. दरअसल धरमलाल कौशिक ने विधानसभा के प्रमुख सचिव देवेन्द्र वर्मा द्वारा देय लगभग 42 लाख का एडवांस बाकी होने के बाद भी अनापत्ति प्रमाण पत्र प्राप्त कर प्रस्तुत किया है.


आरोप है कि भाजपा प्रत्याशी श्री कौशिक एवं देवेन्द्र वर्मा द्वारा विदेश यात्रा के लिये 42 लाख का एडवांस प्राप्त किया गया है जिसका भुगतान विगत 3-4 वर्षों से बाकी है. किन्तु इन तथ्यों को छिपाते हुए विधानसभा के प्रमुख सचिव देवेन्द्र वर्मा द्वारा धोखाधड़ी एवं जालसाजी करते हुए अनापत्ति का गलत प्रमाण पत्र भाजपा प्रत्याशी को जारी किया गया है. जो चुनाव आचार संहिता का घोर उल्लंघन है एवं तत्काल कार्यवाही योग्य है.

वीरेंद्र पांडेय की शिकायत में कहा गया है कि प्रमाण के रूप में इस सम्बंध में कार्यालय महालेखाकार (लेखा परीक्षा) छत्तीसगढ़, रायपुर द्वारा संलग्न पत्र दिनांक 05.07.2013 द्वारा प्रेषित की गयी है किन्तु देवेन्द्र वर्मा द्वारा उक्त पत्र को दबा दिया गया है तथा एडवांस वापसी के सम्बंध में कोई कार्यवाही न करते हुए धोखाधड़ी एवं जालसाजी करते हुए नो-ड्यूज का गलत प्रमाण पत्र भाजपा प्रत्याशी को जारी किया गया है, इनका यह कृत्य उन्हें तत्काल निलंबित किये जाने योग्य है.

इस शिकायत को लेकर संयुक्त मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी डी.डी. सिंह ने बिल्हा के भाजपा प्रत्याशी श्री कौशिक के खिलाफ शिकायत के संबंध में कहा कि शिकायतकर्ता निर्वाचन अधिकारी के समक्ष शिकायत कर सकते हैं अथवा न्यायालय में चुनौती दे सकते हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!