दिग्विजय ने कहा-हिंदू हूं मैं

नई दिल्ली | संवाददाता: दिग्विजय सिंह ने कहा है कि अगर किसी को उनके हिंदू होने पर शक है तो वो उनके घर आ कर देख ले. अपने ब्लाग पर दिग्विजय सिंह ने लिखा है कि बीजेपी के हिंदुत्व का धर्म से कुछ भी लेना देना नहीं है, बल्कि भोले-भाले हिंदुओं को ठगने की चाल है. एक अच्छा हिंदू संघ ब्रिगेड के विपरीत हमेशा सभी धर्मों का सम्मान करता है. उन्होंने क्या मैं हिंदू विरोधी हूं, सवाल के साथ अपनी बात शुरु की है. उन्होंने उन लोगों को अपने घर आकर जांच करने का न्योता दिया है, जो सनातन धर्म के प्रति उनकी निष्ठा पर उंगली उठाते हैं. सिंह ने कहा कि उन्हें उम्मीद है कि जो संघ के दुष्प्रचार से प्रभावित हैं, वे उन्हें अच्छी तरह समझने की कोशिश करेंगे.

दिग्विजय सिंह ने कहा कि वह रोज आधे घंटे पूजा करते हैं. द्वारका और जोशी मठ के शंकराचार्य ने उन्हें 'दीक्षा' दी थी. मध्य प्रदेश के राघोगढ़ में उनके आवास पर नौ मंदिर हैं, जहां हर दिन पूजा होती है. हिंदू सनातन धर्म के साथ अपने जुड़ावों का उल्लेख करते हुए उन्होंने अपने ब्लॉग में कहा कि जो लोग यह मानते हैं कि मैं हिंदू विरोधी हूं, वे इसपर गौर करें. क्या वे बीजेपी और आरएसएस में इससे अधिक किसी और धार्मिक हिंदू को जानते हैं? अगर जानते हैं तो मैं उनसे मिलना चाहूंगा?


दिग्विजय सिंह ने कहा कि मुझे संघियों और अहमदाबाद के निकट मणिपुर साणंद में संस्कार धाम से मोदी के भाड़े के टट्टुओं से सोशल मीडिया पर गाली खाने वाला व्यक्ति होने का सौभाग्य हासिल है. इन गिरोहों ने कभी मुझे डॉगविजय सिंह, तो कभी पिगविजय सिंह बताया है, जो शायद मेरे पौत्र से भी उम्र के होंगे.

कांग्रेस महासचिव ने कहा कि कई बार मुझसे इस्लाम कबूल करने की तो कभी ईसाई धर्म कबूल करने की उम्मीद की जाती है. ट्रेनिंग के दौरान संघियों को सरासर झूठ फैलाने की बात सिखाई जाती है. मैं उनपर या उनके माता-पिता पर दोषारोपण नहीं करूंगा, बल्कि संस्कार धाम या आरएसएस की शाखाओं में उन्हें दिए जाने वाले संस्कारों को दोषी ठहराया जाना चाहिए.'

दिग्गी राजा ने कहा कि मैं जानता हूं कि जो कुछ भी मैं कह रहा हूं उसका 'संघी गिरोह' अनदेखी करने जा रहे हैं. फिर भी जो बात मैं मानता हूं उसे रिकॉर्ड में दर्ज कराना मेरा कर्तव्य है. मैंने जो दावा किया है अगर आप उसे नहीं मानते हैं तो राघोगढ़ में मेरे अतिथि के तौर पर आपका स्वागत है. आप खुद इसकी जांच कर लें. राघोगढ़ का रास्ता भोपाल से तीन घंटे का है.

इधर भारतीय जनता पार्टी ने आरोप लगाया कि कांग्रेस गुजरात के मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी को निशाना बना रही है. भाजपा ने कहा कि मोदी की मौजूदगी से कांग्रेस असुरक्षित महसूस कर रही है. उन्होंने कहा कि सवाल यह उठता है कि वे क्यों नरेंद्र मोदी को निशाना बनाने का प्रयास कर रहे हैं? क्या वे असुरक्षित हैं? क्या वे सोचते हैं कि हालात उनके हाथ से निकल गए हैं? क्या वह बहुत लोकप्रिय हैं, क्या वह उन्हें चुनौती देने जा रहे हैं?

रुडी ने कहा कि मोदी के काम का तरीका लोगों को रास आ रहा है. गुजरात दंगों पर मोदी के हाल के बयान पर उन्होंने कहा कि अपनी भावनाओं की अभिव्यक्ति करना कहीं से भी गलत नहीं है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!