छत्तीसगढ़: नक्सलियों में असंतोष

जगदलपुर | समाचार डेस्क: छत्तीसगढ़ के नक्सलियों के सबसे मजबूत दरभा डिवीजन में असंतोष की खबरें मिल रहीं हैं. इसकी जानकारी पुलिस अधिकारियों ने दी है. उल्लेखनीय है कि इसी दरभा डिवीजन ने कई बड़े नक्सली वारदातो को अंजाम दिया था. जिसमें 25 मई को कांग्रेस के परिवर्तन यात्रा पर हमला करना शामिल हैं. जिसमें कांग्रेस के कई बड़े नेताओं समेत 31 लोग मारे गये थे.

दरभा में नक्सलियों ने कांग्रेस के नेता नंदकुमार पटेल की नृशंस हत्या कर दी थी तथा वहां लगे गोली के कारण विद्याचरण शुक्ल की बाद में मौत हो गई थी.

छत्तीसगढ़ पुलिस के अधिकारियों का कहना है कि पिछले दिनों उड़ीसा पुलिस द्वारा नक्सली नेता सोनाधर को मार गिराये जाने के बाद से यह असंतोष बढ़ा है. गौरतलब है कि सोनाधर दरभा डिवीजन का मिलिट्री कमांडर था.

दूसरी तरफ छत्तीसगढ़ पुलिस के दबाव के चलते भी नक्सलियों का दरभा डिवीजन कमजोर हुआ है.

दरअसल, नक्सलियों के दंडकारण्य स्पेशल जोनल कमेटी के छः डिवीजनों में दरभा डिवीजन सबसे मजबूत डिवीजन के रूप में जानी जाती है. इसमें असंतोष फैलने की खबर छत्तीसगढ़ पुलिस के लिये बड़ी सफलता मानी जा रही है.

नक्सलियों की दंडकारण्य स्पेशल जोनल कमेटी छत्तीसगढ़ के दक्षिण क्षेत्र और पड़ोसी राज्य तेलंगाना, ओडिशा और महाराष्ट्र के कुछ हिस्सों में फैली है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *