ट्रंप का चुना जाना खतरनाक

जिनेवा | समाचार डेस्क: अब संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार प्रमुख भी डोनल्ड ट्रंप की खिलाफत करने पर उतर आये हैं. उन्होंने लोगों को चेतावनी देने के लहजे में कहा है कि ट्रंप का चुना जाना मानवाधिकार के लिये खतरनाक होगा. उन्होंने कहा ट्रंप के चुने जाने पर अल्पसंख्यक तथा मुसलमानों को अधिकार छीने जा सकते हैं.

इससे पहले अमरीकी राष्ट्रपति बराक ओबामा ने डोनल्ड ट्रंप का विरोध किया था. डोनल्ड ट्रंप के साल 2005 के टेप के खुलासे के बाद रिपब्लिकन पार्टी के ही कई बड़े नेता उनका विरोध कर रहें हैं.


जिनेवा में एक संवाददाता सम्मेलन के दौरान संयुक्त राष्ट्र में मानवाधिकार उच्चायुक्त जैद राद अल हुसैन ने कहा कि “किसी राजनीतिक चुनाव में हस्तक्षेप करने में उनकी कोई दिलचस्पी या मंशा नहीं है लेकिन अमरीकी राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार की ‘परेशान’ और ‘चिंतित’ करने वाली टिप्पणियों के बाद चेतावनी देना उचित ही है”.

जैद ने कहा, “डोनल्ड ट्रंप ने अभी तक जो कुछ भी कहा है, और यदि उनमे बदलाव नहीं होता है, तो ऐसे वह चुने जाने पर अंतर्राष्ट्रीय दृष्टिकोण से खतरनाक साबित होंगे”. वह पूछताछ करने की उन तरीकों को वापस लाने संबंधी ट्रंप के बयानों का हवाला दे रहे थे, जिन्हें कानून विशेषज्ञ प्रताड़ना की श्रेणी में रखते हैं.

उन्होंने कहा, और ‘संवेदनशील समुदायों’ जैसे मुसलमानों, आव्रजकों और अल्पसंख्यकों को ट्रंप का हमला ‘दिखाता है कि उनसे उनका मानवाधिकार छीन सकता है’.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!