43 देशों के पयर्टको को मिलेगी ई-वीजा सुविधा

नई दिल्ली | एजेंसी: केन्द्र सरकार ने देश में पर्यटन को बढ़ावा देने के लिये वीजा की प्रक्रिया को सरल बनाया है. इसके तहत अब 43 देशों के पर्यटक ई-वीजा का लाभ उटा सकेंगे. गौरतलब है कि इसके तहत ऑनलाइन एक माह के लिये वीजा मिला करेगा. सरकार ने गुरुवार को अमरीका, इजरायल, फिलीस्तीन और जापान सहित 43 देशों के पर्यटकों के लिए इलेक्ट्रिक वीजा सुविधा शुरू की. इसका मकसद पर्यटन क्षेत्र को बढ़ावा देना और विदेशी पर्यटकों की सुविधा बढ़ाना है. केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह और केंद्रीय संस्कृति और पर्यटन मंत्री महेश शर्मा ने यहां इलेक्ट्रॉनिक ट्रैवल अथॉरिटाइजेशन योजना के साथ आगमन पर पर्यटन वीजा सेवा लांच की.

सिंह ने कहा, “भारत अपनी भौगोलिक स्थिति के कारण पर्यटन क्षेत्र में विशेष लाभ वाली स्थिति में है. किसी भी अन्य देश में जलवायु को लेकर इतनी विविधता नहीं है.”


इन चार देशों के अलावा आस्ट्रेलिया, ब्राजील, कंबोडिया, कुक आईलैंड्स, डिजबौटी, माइक्रोनेशिया, फिजि, फिनलैंड, जर्मनी, इंडोनेशिया, जॉर्डन, केन्या, टोंगो, लाओस, लक्जमबर्ग, मॉरीशस, मेक्सिको, म्यांमार, न्यूजीलैंड, नीयू, नॉर्वे, ओम्मान, पापुआ न्यू गिनी, फिलीपींस, किरिबाती, दक्षिण कोरिया, मार्शेल आईलैंड्स, नॉरू, पलाऊ, रूस, समोआ, सिंगापुर, सोलोमन आईलैंड्स, थाईलैंड, तुवालू, संयुक्त अरब अमीरात, यूक्रेन, वियतनाम और वनुआतू के पर्यटकों को भी ई-वीजा सुविधा मिलेगी.

पर्यटक वेबसाइट इंडियनवीजाऑनलाइन डॉट गव डॉट इन पर जाकर चार सिर्फ चार चरणों में भारतीय वीजा हासिल कर सकेंगे.

ई-वीजा सुविधा के तहत ईटीए की अनुमति मिलने के बाद पर्यटक 30 दिन के भीतर भारत में प्रवेश कर सकते हैं और इसके बाद अधिकतम 30 दिनों तक रह सकते हैं.

यह सुविधा चरणबद्ध तरीके से अन्य देशों के लिए भी लागू होगी.

ई-वीजा सुविधा के तहत पर्यटक नौ अंतर्राष्ट्रीय हवाईअड्डों के जरिए देश में आ-जा सकेंगे. ये हवाईअड्डे हैं : बेंगलुरू, चेन्नई, कोच्चि, दिल्ली, गोवा, हैदराबाद, कोलकाता, मुंबई और तिरुवनंतपुरम.

अधिकारियों ने बताया कि नौ अंतर्राष्ट्रीय हवाईअड्डों पर 75 टीवीओए काउंटर लगाए जाएंगे.

आव्रजन विभाग के संयुक्त निदेशक पी.के. भारद्वाज ने कहा कि पहले से तैयार डाटाबेस के आधार पर इन यात्रियों की पृष्ठिभूमि की जांच की जाएगी और टीवीओए काउंटर पर्यटकों का अधिकारियों के साथ प्रथम चरण का साक्षात्कार होगा.

इंडियन एसोसिएशन ऑफ टूर ऑपरेटर्स के अध्यक्ष सुभाष गोयल ने पर्यटन मंत्रालय को आश्वस्त करते हुए कहा कि वे इस सोच को चरितार्थ करने के लिए हर संभव कोशिश करेंगे.

कॉक्स एंड किंग्स के निदेशक पीटर केरकर ने कहा, “यह भारतीय पर्यटन उद्योग के लिए काफी महत्वपूर्ण खबर है क्योंकि इससे हमारे स्रोत देशों से बड़ी संख्या में पर्यटकों को भारत की यात्रा करने के लिए प्रोत्साहन मिलेगा.”

उन्होंने कहा, “इस कदम से देश में आने वाले पर्यटकों की संख्या तेजी से बढ़ेगी और आगमन संख्या में दहाई अंकों में वृद्धि दर्ज की जाएगी.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!