10 वर्षो में दुनिया से हाथियों का सफाया!

वाशिंगटन | एजेंसी: हमारी पृथ्वी के जीवनतंत्र और पर्यावरण तंत्र को लेकर हाल ही में बेहद चिंताजनक खुलासा खुलासा हुआ है. एक व्यापक सर्वेक्षण में पाया गया है कि 2010 से 2912 के दौरान तकरीबन एक लाख अफ्रीकी हाथियों का अवैध शिकार हुआ है. सर्वेक्षण में चेतावनी भी दी गई है कि इस तरह अगले 10 वर्षो में हमारी पृथ्वी से हाथियों का सफाया हो जाएगा. इस तरह के अवैध शिकार से उपमहाद्वीप में हाथियों की संख्या में दो से तीन प्रतिशत तक की गिरावट दर्ज की गई है.

फोर्ड कोलिंस स्थित कोलोरेडो विश्वविद्यालय के विज्ञानी जॉर्ज विटेमयर का कहना है कि मौजूदा परिदृश्य से साफ पता चलता है कि हाथियों की बड़ी आबादी सफाए की ओर है.


विटेमयर और उनकी टीम ने हाथियों के जनसांख्यिकीय आंकड़ों का अध्ययन करने के बाद मिले सबूतों के आधार पर जो अनुमान लगाया, उसमें पाया गया कि उपमहाद्वीप में हाथियों का अवैध शिकार सर्वाधिक हुआ है.

शोधकर्ताओं ने अपने अध्ययन की शुरुआत केन्या के संबुरू नेशनल पार्क के जंगली हाथियों से की, जहां 1998 से ही हाथियों में हर जन्म और मृत्यु का हिसाब रखा जा रहा है.

हाथियों के शवों के सर्वे के बाद यह निर्धारित किया जा रहा था कि प्रत्येक मौत प्राकृतिक कारणों से, या अवैध शिकार से या फिर दूसरे किन कारणों से हुआ है. अध्ययनकर्ताओं को हाथियों की अवैध हत्या के ठोस सबूत मिले, जिसकी शुरुआत 2009 से हुई है और इसमें वृद्धि भी हो रही है.

अनुसंधान करने वाले दल को पता चला कि हाथी के दांत की कालाबाजारी से हाथियों के अवैध शिकार का सीधा संबंध है. अनुसंधानकर्ताओं की गणना के अनुसार, 2010-12 के दौरान हाथियों का अवैध शिकार सात प्रतिशत के करीब रहा.

हाथियों की मौजूदा संख्या को मानकर अगर अनुमान लगाया जाए तो हर साल तकरीबन 33,630 हाथियों की मौत सिर्फ शिकार के कारण हो रही है.

वन्यजीव संरक्षण संस्था की सलाहकार फियोना मैसेल्स का कहना है कि हाथियों के संरक्षण पर शायद यह पिछले 10 वर्षो में सबसे महत्वपूर्ण अध्ययन है. उन्होंने कहा कि हाथियों के संरक्षण के लिए वे काफी सतर्क हैं इसके बावजूद हर साल हाथियों की शिकार के कारण हो रही मौत में तेजी से बढ़ोतरी हो रही है, जो कि दुखद है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!