मीनाक्षी लेखी के खिलाफ जॉच शुरु

पणजी | समाचार डेस्क:गोवा पुलिस ने भाजपा की प्रवक्ता मीनाक्षी लेखी के ट्वीट के स्क्रीन शॉट तथा यूआरएल पेश करने को कहा है. गोवा पुलिस ने शिकायतकर्ता सुनील कवथानकर से कहा है कि सबूत के रूप में इन दोनों को प्रस्तुत किया जाये.

गौर तलब है कि तरुण तेजपाल ने कथित रूप से जिस लड़की का बलात्कार किया था मीनाक्षी लेखी पर उसके नाम को उजागार करने का आरोप है. हालांकि उस ट्वीट को कुछ ही मिनटों में डीलीट कर दिया गया था. उस समय मीनाक्षी लेखी ने बताया था कि उनके ट्वीटर अकाउंट को हैक करके यह किया गया था जिसे इन्होंने दुरस्त कर दिया था.


तेजपाल दुष्कर्म मामले की पीड़िता का नाम ट्वीटर पर उजागर करने की आरोपी भारतीय जनता पार्टी की प्रवक्ता मीनाक्षी लेखी के खिलाफ गोवा पुलिस ने जांच शुरू कर दी है.

बहरहाल शिकायतकर्ता ने, जो शहर के एक वकील हैं, दावा किया कि भाजपा शासित राज्य की पुलिस सही काम नहीं कर रही है.

पुलिस के साइबर सेल विभाग ने पिछले हफ्ते शहर के एक वकील और शिकायतकर्ता सुनील कवथानकर को औपचारिक रूप से एक अनुरोध भेजा, जिन्होंने अपनी शिकायत में मांग की थी कि लेखी के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धारा 228ए के तहत मामला दर्ज किया जाए.

साइबर शाखा ने कवथानकर से मीनाक्षी लेखी के ट्वीट की स्क्रीनशॉट कॉपी और यूआरएल नंबर पेश करने को कहा. 10 दिसम्बर को लिखा गया यह पत्र शनिवार को कवथानकर को प्राप्त हुआ.

कवथानकर ने कहा कि वह पुलिस द्वारा प्राथमिक कार्रवाई शुरू करने से प्रसन्न हैं, लेकिन उनको संदेह है कि पुलिस एक वरिष्ठ भाजपा पदाधिकारी के खिलाफ जांच में गंभीर नहीं है.

उन्होंने कहा कि वह इस मामले को सोमवार को पुलिस महानिदेशक के सामने उठाएंगे. राष्ट्रीय महिला आयोग ने भी पीड़िता का नाम उजागर करने के लिए मीनाक्षी लेखी को नोटिस भेजा है.

लेखी ने इन सभी आरोपों का खंडन किया और दावा किया कि उनके ट्विटर एकाउंट का दुरुपयोग किया गया. उन्होंने कहा कि सभी आरोप राजनीति से प्रेरित हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!