मोइली इस्तीफा दें: ग्रीनपीस

नई दिल्ली | समाचार डेस्क: ग्रीनपीस इंडिया ने मंगलवार को पर्यावरण मंत्री वीरप्पा मोइली से इस्तीफे की मांग की है. ग्रीनपीस का कहना है कि वीरप्पा मोइली ने 20 दिनों में 70 परियोजनाओं को मंजूरी दे दी है और यह पर्यावरण के हित में नहीं है.

ग्रीनपीस इंडिया के कार्यकारी निदेशक समित आइच ने मोइली को उनके कर्ल्वयों को याद दिलाते हुए लिखा है, “पर्यावरण मंत्री होने का मतलब परियोजनाओं को तेजी से मंजूरी देना नहीं है, बल्कि पर्यावरण और वन्य जीवन की सुरक्षा है.”


पत्र में मोइली के दोनों मंत्रालयों के बीच द्वंद की बात कही गई है पत्र में लिखा गया है, “मोइली के पर्यावरण और पेट्रोलियम दोनों मंत्रालय की जिम्मेवारी संभालने से दोनों क्षेत्रों के हित टकरा रहे हैं. उन्हें तुरंत पर्यावरण मंत्री पद से इस्तीफा देना चाहिए.”

ग्रीनपीस ने इस बात के लिए मंत्री की आलोचना की कि उन्होंने यह फैसला तब लिया है, जब चुनाव सिर पर है.

पत्र में लिखा गया, “पर्यावरणीय मंजूरी के लिए आने वाली सभी परियोजनाओं से कई पक्ष जुड़े होते हैं जैसे कंपनी, पर्यावरण समूह और प्रभावित क्षेत्रों के प्रभावित लोग. कानून के मुताबिक परियोजना को मंजूरी देने की प्रक्रिया में सभी पक्षों को समान अवसर दिया जाना चाहिए.”

पत्र में लिखा गया है, “आपने आनन-फानन में मंजूरी देकर कंपनियों को छोड़कर बाकी सभी पक्षों को नजरंदाज किया है.” गौरतलब है कि ग्रीनपीस एक पर्यावरण प्रेमियों का संगठन है जो पर्यावरण की रक्षा से जुड़े मुद्दों को उठाता रहता है. 1971 में इसे कनाडा से शुरु किया गया था दुनिया को हरा भरा रखने तथा शांति कायम रखने के लिये.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *