निगाहें पोल खोलती हैं

शिकागो | एजेंसी: कहीं पे निगाहें, कहीं पे निशाना. अगली बार आप अगर डेट पर जाएं तो संभलकर, क्योंकि एक अध्ययन में यह पाया गया है कि आंखें प्रेम और वासना में अंतर को समझ सकती हैं.

एक अध्ययन के अनुसार, अगर कोई किसी अजनबी के चेहरे पर ही निगाह रखता है, तो इससे पता चलता है कि उसके दिल में अजनबी के लिए प्यार है. अगर देखने वाले की निगाह शरीर के अन्य भागों पर भटकती है, तो तय है कि वह वासना के वशीभूत है.


शिकागो यूनिवर्सिटी के हाई-परफॉर्मेस इलेक्ट्रिकल न्यूरो-इमेजिंग लेबोरेटरी के निदेशक स्टेफनी कैकियोप्पो के मुताबिक, “निष्कर्ष में आंखों की गति से पता चल जाता है कि अजनबी के प्रति आपके दिल में प्यार है या वासना.”

नए अध्ययन में शोधकर्ताओं ने दो विभिन्न भावनात्मक अवस्थाओं रोमांटिक लव और वासना के आकलन के लिए दो परीक्षण किए.

जेनेवा यूनिवर्सिटी के छात्र और छात्राओं को दो विपरीत लिंगी युवाओं की तस्वीरें दिखाई गईं, जिसमें वे एक दूसरे से बातचीत कर रहे हैं.

उन्हें विपरीत लिंगी युवाओं की वह तस्वीरें भी दिखाई गईं, जिसमें वे सीधे कैमरे को देख रहे हैं.

इसके बाद प्रतिभागियों से पूछा गया कि तस्वीरों में मौजूद लोगों की आंखों में प्यार झलक रहा है वासना.

अध्ययन के इन आंकड़ों से निगाह के बारे में चौंकाने वाले परिणाम आए.

कैकियोप्पो ने कहा, “वैसी तस्वीरें जिसमें दो विपरीत लिंगी एक दूसरे के चेहरों को देख रहे थे, के बारे में कहा गया कि उनकी आंखों में प्यार है. जबकि वैसी तस्वीरें जिसमें निगाहें चेहरे से फिसलकर शरीर के अन्य भागों पर थी, के बारे में कहा गया कि उनकी आंखों में वासना है.”

जॉन कैकियोप्पो कहते हैं, “निगाह से ही पता चल जाता है कि आपके दिल में प्यार है या वासना.” इस कारण अगली बार से ताक-झांक करने के पहले सावधान हो जायें, आपकी आखें, आपका पोल सकती हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!