परिवार नियोजन की जिम्मेदारी किसकी?

रायपुर | जेके कर: छत्तीसगढ़ में परिवार नियोजन की जिम्मेदारी महिलायें ही उठाती हैं. पुरुष इस जिम्मेदारी से कन्नी काट जाते हैं. कम-से-कम सरकारी आकड़ों तो यही बतलाते हैं. इन आकड़ों पर भरोसा किया जा सकता है क्योंकि उन्हें जिले के स्वास्थ्य केन्द्रों से भेजा जाता है. इसे किसी कमरे में बैठकर अंजाम नहीं दिया जाता है. नसबंदी के ऑपरेशन के बाद जो संख्या स्वास्थ्य विभाग को भेजे जाते हैं यह उन पर यह निर्भर करता है.

छत्तीसगढ़ में नसबंदी के आकड़ों बेहद चौकाने वाले हैं. आश्चर्य न होगा यदि देश के अन्य हिस्सों का भी यही हाल हो. पिछले साल छत्तीसगढ़ में नसबंदी के कुल 1,28,656 ऑपरेशन किये गये जिनमें पुरुषों की संख्या मात्र 4,624 है. इसका अर्थ यह हुआ कि पुरुषों के मुकाबले करीब 27 गुना महिलाओं ने नसबंदी करवाया.

अब इसे महिलाओँ पर जुल्म माना जाये कि समाज का पिछड़ापन? समाज का पिछड़ापन तब कहा जा सकता है जब नसबंदी करवाने के लिये पति-पत्नी तैयार ही न हो. यहां पर तो नसबंदी के माध्यम से परिवार नियोजन कराने की आपसी सहमति मालूम होती है परन्तु इसकी जिम्मेदारी महिलाओं पर डाल दी जाती है.

सरगुजा के आकड़ें काफी हैरत में डालने वाले हैं जहां पिछले साल मात्र 28 पुरुषों ने अपनी नसबंदी करवाई जबकि वहां की 14,147 महिलाओँ ने नसबंदी करवाया.

दुर्ग और बिलासपुर का हाल इससे जुदा नहीं है. दुर्ग में मात्र 677 पुरुषों ने नसबंदी का ऑपरेशन करवाया जबकि 35,555 महिलाओँ का नसबंदी का ऑपरेशन हुआ. वहीं, बिलासपुर में भी 764 पुरुषों ने नसबंदी करवाया जबकि नसबंदी करवाने वाले महिलाओं की संख्या 33,387 थी.

इऩके बनस्पित आदिवासी बहुल बस्तर में 2,030 पुरुषों तथा 8,514 महिलाओं ने नसबंदी करवाया.

बस्तर में जहां महिलाओं की तुलना में 4 गुना कम पुरुषों ने अपनी नसबंदी का ऑपरेशन कराया था वहीं दुर्ग में यह अनुपात 52 गुना कम तथा बिलासपुर में 43 गुना कम है.

क्या इसका मतलब यह निकाला जाये कि परिवार नियोजन की जिम्मेदारी उठाने का दायित्व का संबंध शिक्षा के बजाये सामाजिक तानेबाने पर ज्यादा निर्भर करता है? कहा जाता है कि आदिवासी समाज में महिलाओं को ज्यादा समानता हासिल है.

कुल मिलाकर मामला महिलाओं को सम्मान तथा समानता देने का है. स्वास्थ्य विभाग के नसबंदी के आकड़ों तो मात्र उसका एक उदाहरण है.

छत्तीसगढ़ में साल 2013-14 में कुल नसबंदी- 1,28,656
पुरुष नसबंदी- 4,624
महिला नसबंदी- 1,24,032

बस्तर संभाग में कुल नसबंदी- 10,544
पुरुष नसबंदी- 2,030
महिला नसबंदी- 8,514

बिलासपुर संभाग में कुल नसबंदी- 34,151
पुरुष नसबंदी- 764
महिला नसबंदी- 33,387

दुर्ग संभाग में कुल नसबंदी- 36,232
पुरुष नसबंदी- 677
महिला नसबंदी- 35,555

रायपुर संभाग में कुल नसबंदी- 33,554
पुरुष नसबंदी- 1,125
महिला नसबंदी- 32,429

सरगुजा संभाग में कुल नसबंदी- 14,175
पुरुष नसबंदी- 28
महिला नसबंदी- 14,147

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *