ओरिगी के बिना जीत न पाता बेल्जियम

रियो डी जनेरियो | एजेंसी: ओरिगी के गोल की बदौलत बेल्जियम अंतिम-16 दौर में पहुंचा. बेल्जियम के लिए डिवोक ओरिगी ने 88वें मिनट में गोल कर अपनी टीम को बढ़त दिला दी, जो विजयी गोल भी साबित हुआ. 19 वर्षीय ओरिगी का यह पहला अंतर्राष्ट्रीय गोल भी है. इडेन हाजार्ड ने शानदार तरीके से बाईं ओर से रूस के एस्चेंको को छकाते हुए गोललाइन के नजदीक से गेंद ओरिगी को पास किया, जिस पर ओरिगी ने बेल्जियम के लिए विजयी गोल दागा. इसके साथ ही बेल्जियम ने लगातार दो मैच जीतकर विश्व कप के नॉकआउट दौर में प्रवेश कर लिया.

बेल्जियम का प्रदर्शन पूरे मैच में बहुत कमजोर रहा और वे जरा भी प्रभावित नहीं कर सके, हालांकि आखिरी के 10 मिनटों में मार्क विल्मॉट की टीम ने जरूर बेहतर वापसी की. बेल्जियम के लिए इस विश्व कप में किया गया यह तीसरा गोल भी स्थानापन्न खिलाड़ी ने ही किया. 2006 में सर्बिया के खिलाफ लियोनेल मेसी के गोल के बाद ओरिगी विश्व कप में गोल करने वाले सबसे कम उम्र के सातवें खिलाड़ी बन गए. ओरिगी बेल्जियम के लिए गोल करने वाले सबसे कम उम्र के खिलाड़ी भी हैं.


मैच के 75वें मिनट में मैदान में प्रवेश करने वाले केविन मिरालास ने अतिरक्त समय में गोल का एक शानदार मौका गंवा दिया, और गोलपोस्ट के बेहद नजदीक से लगाए गए उनके कमजोर शॉट को रूस के गोलकीपर आइगोर आकिनफेजेव ने रोक लिया. मिरालास 84वें मिनट में भी गोल करने से चूक गए थे. मिरालास द्वारा लगाया गया फ्री किक गोलपोस्ट से टकराकर वापस आ गया.

मध्यांतर तक दोनों ही टीमें गोल करने में असमर्थ रहीं. इस दौरान बेल्जियम ने गोल के दो प्रयास किए जबकि रूस ने गोल के चार अवसर बनाए. बेल्जियम के लिए इस मैच में परिवर्तन के तौर पर बुलाए गए ड्रीज मर्टेंस ने मैच के चौथे मिनट में ही रूस के गोलपोस्ट की ओर शानदार शॉट लगाया, लेकिन रूस की रक्षापंक्ति इसे रोकने में सफल रही.

बेल्जियम ने मैच में गोल के कुल सात अवसर बनाए, जबकि रूस छह बार यह मौका बना सका. बेल्जियम ने 52 फीसदी समय तक गेंद अपने पास रखा, जबकि रूस 48 फीसदी तक गेंद पर कब्जा बनाए रहने में सफल रहा.

हाजार्ड को उनके बेहतरीन प्रदर्शन के लिए मैन ऑफ द मैच चुना गया.

दोनों टीमों के बीच यह कुल नौंवा मैच था, जिसमें बेल्जियम ने चौथी बार सफलता हासिल की. रूस भी चार बार बेल्जियम को हरा चुका है, जबकि एक मैच ड्रॉ रहा था. दोनों ही टीमें फीफा विश्व कप में सेमीफाइनल तक का सफर तय करने में सफल रही हैं.

रूस की नॉकआउट दौर में प्रवेश करने की उम्मीदें अब भी बरकरार हैं, हालांकि इसकी संभावना बेहद कम है. बेल्जियम ने अपने पहले ग्रुप मैच में पहली बार विश्व कप खेल रहे अरब देश अल्जीरिया को 2-1 से हराया था.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!