पांच करोड़ किलो दाल जब्त

नई दिल्ली | समाचार डेस्क: हाल ही में दाल की जमाखोरी के खिलाफ छापों में पांच करोड़ किलो दालें जब्त की गई. इस माह दाल के 3149 गोदामों में देश के 10 राज्यों में मारे गये छापों में 50,656.79 मीट्रिक टन दाल बरामद हुआ है जिसका कोई हिसाब नहीं मिल रहा है. जाहिर है कि इस दाल की जमाखोरी करके व्यापारी अपने वारे-न्यारे कर रहें हैं.

यदि इन आकड़ों को समझने के लिये इसे किलोग्राम में परिवर्तित करें तो यह आकड़ा 5 करोड़ 06 लाख 56 हजार 790 से भी ज्यादा किलो का होता है.

सबसे ज्यादा दालें 30373.00 मीट्रिक टन महाराष्ट्र से जब्त किया गया है. इसके बाद 5967.342 मीट्रिक टन दाल कर्नाटक से जब्त किया गया है. दाल की जमाखोरी में तीसरे नंबर पर है छत्तीसगढ़ जहां से 4525.192 मीट्रिक टन दाल जब्त किया गया है.

छापेमारी के परिणामस्‍वरूप मुम्‍बई में दालों की कीमत में प्रति क्विंटल 200 रूपये की गिरावट आई है. यह कमी चना के वायदा कारोबार में भी देखा गया. गुजरात, महाराष्‍ट्र, कर्नाटक और आंध्रप्रदेश में भी दालों की खुदरा बिक्री की कीमतों में कमी आई है.

उल्लेखनीय है कि केंद्रीय उपभोक्ता मंत्रालय ने हाल ही में राज्यों को आवश्यक वस्तु अधिनियम में सुधार कर उन्हें दालों के भंडारण की सीमा तय करने का अधिकार दे दिया था. इसके तहत निर्यातकों और आयातकों, बड़ी खाद्य प्रसंस्करण इकाइयां और बड़े विभागीय खुदरा विक्रेताओं के लिए दालों की भंडारण सीमा तय कर दी थी.

दाल के लिये की गई छापेमारी से जाहिर है कि छत्तीसगढ़ में आवश्यक वस्तुओं की जमकर जमाखोरी हो रही है जिसका खामियाजा आम जनता को भुगतना पड़ रहा है क्योंकि खाद्य पदार्थो के दाम तमाम दावों के बाद भी बढ़ रहें हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *