कम खाओ वजन घटाओ

लंदन | एजेंसी: क्या तुरंत खाना खाने के बावजूद आप के मन में भोजन की स्मृतियां उभरती हैं और आप खाने को लालायित होने लगते हैं? अगर आपका जवाब हां है तो तुरंत जांच कीजिए कि कहीं आप का वजन ज्यादा तो नहीं है?

लक्जमबर्ग के युनिवर्सिटी ऑफ लक्जमबर्ग में नैदानिक और स्वास्थ्य मनोविज्ञान के प्रोफेसर क्लॉस वोएगेल ने बताया, “कुछ लोगों को ज्यादा खाने की सहज, मनोवैज्ञानिक आदत हो सकती है.”

एक खाद्य संबंधी मनोवैज्ञानिक परीक्षण में महिलाओं में वजन की समस्या औसत से कहीं ज्यादा आवेगी पाई गई.

वोएगेल ने बताया, “सभी लतें एक जैसी होती हैं, पीड़ित को खाने, जुआं खेलने, धूम्रपान, यौनक्रिया या मादक पदार्थो का सेवन करने से अच्छा महसूस होने की आदत पड़ जाती है.”

शोधकर्ताओं द्वारा परीक्षण में एक कम्प्यूटर स्क्रीन पर लिए वसायुक्त या मीठे खाने जैसे बर्गर, केक या पिज्जा आदि की तस्वीरें और अखाद्य चीजों जैसे मोजे, जग या जूते आदि की तस्वीरें बेतरतीबी से दिखाई गईं.

महिलाओं को खाने वाली चीजों या ना खाने वाली चीजों की तस्वीरों पर तेजी से क्लिक करने का निर्देश दिया गया.

यह परीक्षण खाना खाने के तुरंत बाद और खाने के तीन घंटों बाद किया गया.

शोधकर्ताओं ने पाया कि कुछ महिलाएं जिन्हें ज्यादा वजन की समस्या थी, ने बताया कि तुरंत खाना खाने के बावजूद परीक्षण के दौरान वे खाने के लिए लालायित हुईं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *