आया ई-उपहार का जमाना

नई दिल्ली | एजेंसी: फिल्म ‘कुछ कुछ होता है’ में शाहरुख खान ढेर सारे फ्रेंडशिप बैंड्स लेकर घूमते दिखाई दिए थे. शाहरुख की यह फिल्म न सिर्फ हिट हुई बल्कि इसने रंग बिरंगे फ्रेंडशिप बैंड्स को भी लोकप्रिय बना दिया. लेकिन व्यापार विशेषज्ञों का कहना है कि अब फैंडशिप बैंड्स की जगह आकर्षक ई-उपहारों ने ले ली है.

फ्रेंडशिप डे मतलब मित्रता दिवस हर साल अगस्त के पहले रविवार को मानाया जाता है. इस साल यह चार अगस्त को है.

उपहार दीर्घा के निखिल त्यागी ने बताया, “पिछले कुछ सालों में बैंड्स और शुभकामना कार्डो की जगह एसएमएस, ई गिफ्टिंग विकल्पों और सोशल नेटवर्किं ग साइटों ने ले ली है. फ्रेंडशिप बैंड के लिए ग्राहक हमें मुश्किल से मिलते हैं. इसकी जगह ग्राहक पेन ड्राइव, कपड़े, किताबें और हैंडबैग के लिए पूछते हैं.”

खुदरा विक्रेताओं का कहना है कि ई-कॉमर्स वेबसाइट्स की सुविधा और आराम के कारण पिछले सालों में ऑनलाइल ग्राहकों में कई गुना बढ़ोत्तरी हुई है.

फर्न्‍स एन पेटल्स (एफएनपी)की (कारपोरेट कम्यूनिकेशन्स)प्रबंधक, तराना अहमद ने कहा, “डिजिटल दुनिया ने ऑफलाइन दुकानों के लिए चुनौती खड़ी कर दी है.”

वेबसाइट ‘डब्ल्यूडब्ल्यूडब्ल्यू डॉट गिवेटर डॉट कॉम’ के अविनाश ने कहा, “हमें लगता है कि उपहार ज्यादा रचनात्मक, निजी और सुविधाजनक हो गए हैं.”

दूसरी ओर अब विद्यालयों में पढ़ने वाले बच्चों के मित्रता दिवस मनाने का तरीका भी बदल गया है.

12वीं की छात्रा निकिता का कहना है, “हम बैंड या उपहार नहीं खरीदते. हम सब फेसबुक पर हैं और यहीं एक-दूसरे को उपहार और एनिमेटेड शुभकामना संदेश भेजते हैं. ऑनलाइन में आपके पास सैकड़ों विकल्प है. यह ज्यादा अच्छे, प्यारे और मुफ्त हैं.”

आज कल युवा फिल्में भी देखते हैं या दावत करते हैं.

दिल्ली विश्वविद्यालय के 20 वर्षीय छात्र राघव सचदेवा ने कहा, “हम जब चाहें अपने दोस्तों को खास एहसास करा सकते हैं. मैं और मेरे दोस्त एक-दूसरे को उपहार नहीं देते. हम अधिकतर दावत करते हैं या फिल्म देखने जाते हैं और भुगतान को साझा करते हैं.”

कॉलेज छात्र ईशान सक्सेना का कहना है, “जब मैं स्कूल में था तब बैंड्स खरीदता था, अब हम फेसबुक पर कविता, संदेश या तस्वीरें भेजते हैं.”

अहमद ने कहा कि ऑनलाइन ग्राहकों की बढ़ती मांगों को पूरा करने के लिए, खासतौर से मित्रता दिवस जैसे अवसरों पर अनुकूलित उपहारों के अलावा हम युवाओं के चलन और पसंद के अनुरूप उपहारों की रेंज भी दिखाते हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *