नाबालिग से गैंगरेप पर ‘आप’ का प्रदर्शन

कोरबा | संवाददाता: छत्तीसगढ़ के बालको थाना में नाबालिग के साथ गैंगरेप के एक मामले में पुलिस की संदिग्ध भूमिका को लेकर आम आदमी पार्टी ने जम कर हंगामा किया. आम आदमी पार्टी का आरोप था कि अपने दोस्त के साथ मिल कर साली के साथ गैंगरेप करने वाले आरोपियों को पुलिस बचाना चाह रही है.

मंगलवार की सुबह से ही आम आदमी पार्टी के कार्यकर्ता कोरबा जिले के बालको थाना में पहुंच कर गैंगरेप के इस मामले में पुलिस की कार्रवाई की जानकारी चाह रहे थे. लेकिन पुलिस किसी भी तरह मामले को टालने में लगी हुई थी. जब आम आदमी पार्टी के कार्यकर्ताओं ने थाने में विरोध प्रदर्शन किया, तब कहीं जाकर एफआईआर की कापी परिजनों को सौंपी गई.


गौरतलब है कि बालको अंतर्गत सेक्टर तीन निवासी बालको कर्मी गंगाराम जायसवाल ने अपने दोस्त के साथ मिल कर अपनी नाबालिग साली के साथ रेप की घटना को अंजाम दिया था. इस मामले में पुलिस द्वारा अपराध पंजीबद्घ किये जाने में गंभीरता नहीं दिखाई जा रही थी. साथ ही एफआईआर के बाद पीडि़त के परिजनों को एफआईआर की कापी नहीं दी गयी थी. जिससे यह स्पष्ट नहीं हो पा रहा था कि बालको पुलिस ने वास्तविक में अपराध दर्ज किया है नहीं.

दोनों आरोपी बालको कर्मचारी हैं, इसके कारण मामले को रफा-दफा करने की आशंका भी दर्शाई जा रही थी. मीडिया से भी थाना प्रभारी एमबी पटेल दूरी बनाये हुए थे. इसके अलावा थाना प्रभारी के आदेश पर किसी भी थाना स्टाफ ने गैंगरेप का मामला दर्ज होने से ही इंकार कर दिया था.

बालको पुलिस द्वारा आरोपियों के विरूद्घ किये गये एफआईआर की कापी भी परिजनों को नहीं दी जा रही थी. मंगलवार को जब आम आदमी पार्टी ने बालको थाने में प्रदर्शन किया, तब कहीं जा कर पीड़िता के परिजनों को एफआईआर की कापी दी गई.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!