रेप पीड़िता को पुलिस ने पीटा

बिजनौर: उत्तरप्रदेश में बलात्कार पीड़ित लड़की की पिटाई करने वाले 3 पुलिसकर्मियों को सरकार ने निलंबित कर दिया है. राज्य सरकार ने कहा है कि इस मामले में अलग से जांच दल पूरे घटना की जांच करेगा.

गौरतलब है कि उत्तरप्रदेश के बिजनौर में 16 साल की एक लड़की गैंगरेप के बाद जब अपने माता-पिता के साथ रिपोर्ट लिखाने थाने पहुंची थी तो पुलिस ने लड़की के साथ ही मारपीट कर के उसे थाने से भगा दिया.


पीड़िता का कहना था कि उसकी जान पहचान के दो युवकों अनीस और राशिद ने उसके साथ गैंग रेप किया था. इसके बाद जब पीड़िता रिपोर्ट दर्ज कराने थाने पहुंची तो पुलिस ने न केवल उसके माता-पिता के साथ दुर्व्यवहार किया, बल्कि उसके साथ मारपीट की गई और उसे मानसिक रुप से भी प्रताड़ित किया गया.

इसकी शिकायत जब आला अधिकारियों तक पहुंची तो उन्होंने इस मामले में फौरन कार्रवाई की. जिले के एसपी सुनील चंद्र वाजपेयी ने थाना पहुंचकर पूरे मामले में रिपोर्ट दर्ज कराई. इसके अलावा लड़की के साथ मारपीट के जिम्मेवार अफजलगढ़ थाने के प्रभारी रामजी लाल, उपनिरीक्षक राज सिंह और महिला सिपाही सुखराज कौर को निलंबित कर दिया. पुलिस ने तुरंत-फुरंत कार्रवाई करते हुये दोनों आरोपियों को गिरफ्तार भी कर लिया गया.

पिछले सप्ताह उत्तरप्रदेश के ही बुलंदशहर में 10 साल की रेप पीड़िता को पुलिस ने लॉकअप में बंद कर दिया था. जिसके बाद सुप्रीम कोर्ट ने राज्य सरकार की खूब खिंचाई की थी और अखिलेश यादव की सरकार से सप्ताह भर के भीतर जवाब मांगा था. ऐसे में बिजनौर की घटना जैसे ही चर्चा में आई, पुलिस ने तत्काल कार्रवाई की.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!