गौरेला में एंटी टेररिस्ट ट्रेनिंग सेंटर जल्द

बिलासपुर | संवाददाता: छत्तीसगढ़ का दूसरा कांउंटर इंसरजेंसी स्कूल व एंटी टेरेरिस्ट ट्रेनिंग सेंटर बिलासपुर जिले के गौरेला में जल्द ही खुलेगा. बताया जा रहा है कि अगस्त महीने में ट्रेनिंग स्कूल के लिए गौरेला में जंगल के नजदीक पुलिस विभाग ने जमीन तलाश ली है और यहां जनवरी 2014 से ट्रेनिंग स्कूल का निर्माण कार्य प्रारंभ कर दिया जाएगा.

उल्लेखनीय है कि रमन सिंह सरकार ने 2013 के बजट में बिलासपुर जिले में एंटी टेररिस्ट ट्रेनिंग स्कूल खोलने की घोषणा की थी. इससे पहले प्रदेश पुलिस के जवानों को 2005 में बने राज्य के एकमात्र काउंटर इंसरजेंसी सेंटर व एंटी टेरेरिस्ट ट्रेनिंग स्कूल में ले जाकर ट्रेनिंग दी जाती थी जो कि नक्सली प्रभावित क्षेत्र कांकेर में स्थित है.

ऐसे में ट्रेनिंग दिलाने में आ रही दिक्कतों को देखते हुए राज्य शासन ने वर्ष 2013 के बजट में नए काउंटर इंसरजेंसी एण्ड एंटी टेरेरिस्ट सेंटर की स्थापना का प्रावधान किया था.

राज्य सरकार ने इस बजट में एंटी टेरेरिस्ट सेंटर की स्थापना गौरेला में किए जाने के साथ इसके लिए जरूरी राशि भी स्वीकृत कर दी थी बस इसके लिए जमीन तलाशनी बाकी थी जिसके लिए बाद पिछले तीन महीने से पुलिस अधिकारी राजस्व अधिकारियों से संपर्क कर सरकारी जमीन उपलब्ध कराने पत्राचार कर रहे थे जो अब उपलब्ध हो गई गई है.

पुलिस अधिकारियों के अनुसार काउंटर इंसरजेंसी व एंटी टेरेरिस्ट सेंटर के लिए गौरेला में जमीन अधिग्रहण के बाद सेंटर का नक्शा तैयार किया जाएगा. इसके बाद कर्मचारियों के आवास और सेंटर की बाउंड्रीवाल बनाने का काम प्रारंभ किया जाएगा.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *