मोदी नहीं आडवाणी-गोविंदाचार्य

नई दिल्ली: कभी भाजपा के थिंक टैंक मानें जाने वाले गोविंदाचार्य ने कहा है कि नरेंद्र मोदी का प्रधानमंत्री बनना देश हित में नहीं है. भारतीय जनता पार्टी भले नरेंद्र मोदी को अगले प्रधानमंत्री के तौर पर देख रही हो लेकिन गोविंदाचार्य ने कहा कि प्रधानमंत्री अगर किसी को बनाना है तो उसके लिये लालकृष्ण आडवाणी सबसे योग्य हैं.

भाजपा की महामंथन बैठक में नरेंद्र मोदी को प्रधानमंत्री के तौर पर पेश किये जाने की कोशिशों के बीच गोविंदाचार्य ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी में नेतृत्व के स्तर पर तो सिर्फ साजिश, तिकड़म, चालाकी, चापलूसी का माहौल है. योग्य लोग तो भाजपा में निचले स्तर पर हैं. भाजपा में देश लिए सपना संजोए हुए लोग नीचे मिलेंगे. यदि कोई चुप है तो उससे आप यह अंदाजा नहीं लगा सकते कि वह पार्टी से सहमत है कि नहीं और यह भी संभव है कि जो चुप है वही साज़िश भी रच रहा हो.

उन्होंने कहा कि नरेंद्र मोदी के पास अभी अनुभव की कमी है. उन्हें बहुत कुछ सीखने की जरूरत है. खास तौर पर पूरी टीम को लेकर चलने की कला उन्हें नहीं आती. उनमें लचीलेपन की कमी है.

गुजरात के विकास को लेकर गोविंदाचार्य ने कहा कि गुजरात पूरा देश नहीं है. देश में जो विविधतायें हैं, जटिलताएं हैं, अंतर्विरोध हैं उनको गुजरात के सहारे नहीं समझा जा सकता. नरेंद्र मोदी को अभी अपनी क्षमता प्रदर्शित करनी होगी.

गोविंदाचार्य ने कहा कि गुजरात के मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी और भाजपा अध्यक्ष राजनाथ सिंह दोनों को पहले कैबिनेट मंत्री के रूप में काम करने की जररूत है. पहले उन्हें अपने अनुभवों को पुख्ता करना चाहिए, यह देश के लिए ठीक होगा. संजय जोशी का उदाहरण देते हुये गोविंदाचार्य ने कहा कि अगर आप जिद्द करेंगे तो अन्य दलों के साथ चलना मुश्किल हो जायेगा. राजनीति के लिये जिस धैर्य की जरुरत होनी चाहिये, वह नरेंद्र मोदी में नहीं है.


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *