अमरीका में एच-1बी वीज़ा कोटा बढ़ाने का विरोध

वॉशिंगटन. अमरीका में भारतीय पेशेवरों के लिए एच-1बी वीज़ा की संख्या में विस्तार करने की पहल को खारिज़ करने की मांग की गई है. अमरीकी इंजीनियर्स की सबसे बड़े संस्था आईईईई-यूएसए ने अमरीकी सीनेट की न्यायिक समिति से आग्रह किया है कि वह कॉम्प्रिहेंसिव इमिग्रेशन बिल में ऐसे संशोधन को खारिज करें जिसमें अस्थाई एच-1बी वीज़ा की संख्या बढ़ाए जाने का प्रस्ताव है.

संस्था का कहना है कि भारतीय पेशेवरों के अत्याधिक प्रवेश से अमरीकी और अन्य विदेशी कामगारों की नौकरियां खतरे में पड़ेंगी और साथ ही इससे अमरीकी कंपनियां आउटसोर्सिंग के लिए भी प्रोत्साहित होंगी.


संस्था के अध्यक्ष मार्क ऐप्टर के अनुसार आउटसोर्सिंग से देश की अर्थव्यवस्था पर नकारात्मक प्रभाव पड़ता है और एच-1बी कार्यक्रम का उपयोग ऊंची तनख्वाह वाली नौकरियां विदेशियों को देने के लिए नहीं किया जाना चाहिए.

गौरतलब है कि अमरीकी सीनेटरों ऑरिन हैच और टेड़ क्रूज़ ने एच-1बी वीज़ा कोटा में बदलाव कर उसकी संख्या मौजूदा 65000 से बढ़ाकर 300000-325000 तक किए जाने के लिए संशोधन पारित किया है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!