हिरासत में हार्दिक पटेल

सूरत | समाचार डेस्क: गुजरात के सूरत में शनिवार को हार्दिक पटेल को गिरफ्तार कर लिया गया. इसी के साथ पूरे जिले में दोपहर 12 बजे से 24 घंटे के लिए मोबाइल इंटरनेट सेवाओं को बंद कर दिया गया है. पुलिस कमिश्नर राकेश अस्थाना ने बताया कि यह कदम सोशल मीडिया पर अफवाह फैलाने वालों पर लगाम कसने के लिए उठाया गया है. पटेल समुदाय के लिए जाति आधारित आरक्षण की मांग को लेकर गुजरात में आंदोलन करने वाले हार्दिक पटेल को पुलिस ने शनिवार को उनके 50 समर्थकों के साथ हिरासत में ले लिया. वह अपनी मांगों को लेकर शनिवार सुबह यहां ‘एकता रैली’ निकालने जा रहे थे. पुलिस का कहना है कि कानून एवं व्यवस्था बनाए रखने के लिए उन्हें हिरासत में लिया गया.

पाटीदार अनामत आंदोलन समिति के नेतृत्व में प्रस्तावित इस रैली को पुलिस ने ‘अनधिकृत’ बताया.

पाटीदार अनामत आंदोलन समिति के संयोजक हार्दिक पटेल और उनके करीब 50 समर्थकों को मंगध चौक से गिरफ्तार किया गया.

इन गिरफ्तारियों के बावजूद पटेल समुदाय के सदस्यों ने हीराबाग क्षेत्र से एक रैली निकाली, जहां से पास के सह-संयोजक निखिल पटेल को गिरफ्तार किया गया.

गिरफ्तारी के तुरंत बाद हार्दिक ने पुलिस पर उन्हें प्रताड़ित करने का आरोप लगाया. उन्होंने कहा कि वे शांतिपूर्ण रैली निकालना चाहते थे, लेकिन गुजरात सरकार हर किसी को प्रताड़ित करने पर तुली है.

पटेल ने कहा, “हमारा प्रदर्शन शांतिपूर्ण है, फिर भी गुजरात सरकार हिसा भड़काना चाहती है. हम राज्य के लोगों से समर्थन की अपील करते हैं. हम किसी भी समुदाय के खिलाफ नहीं हैं, बल्कि सिर्फ अपने समुदाय के आरक्षण के लिए लड़ रहे हैं.”

पाटीदार अनामत आंदोलन समिति ने इस गिरफ्तारी को ‘अवैध और गुजरात सरकार द्वारा लोकतंत्र का बुलडोजर चलाने’ जैसा करार दिया. साथ ही आरोप लगाया कि गुजरात सरकार केंद्र के इशारे पर काम कर रही है.

पाटीदार अनामत आंदोलन समिति पदाधिकारियों की गिरफ्तारी के बाद गुजरात में हाई अलर्ट जारी किया गया है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *