पश्चिम बंगाल के ‘जंगल महल’ में तेज मतदान

कोलकाता | समाचार डेस्क: पश्चिम बंगाल के ‘जंगल महल’ कहे जाने वाले नक्सली इलाकों में तेज गति से मतदान हो रहा है. पूर्व में इस इलाके के बूथों में हिंसा हो चुकी है. इसलिये चुनाव आयोग ने इस बार खास तैयारी कर रखी है. यहां पर सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस तथा कांग्रेस-वाम गठबंधन में कड़ी टक्कर की संभावना है. पिछले बार यहां की सीटें तृणमूल के खाते में गई थी. पश्चिम बंगाल में सोमवार सुबह सात बजे विधानसभा चुनाव के पहले चरण के लिए मतदान शुरू हो गया. शुरुआती चार घंटों में करीब 45 फीसदी मतदान हुआ है. विधानसभा चुनाव के पहले चरण में कड़ी सुरक्षा के बीच 18 निर्वाचन क्षेत्रों में मतदान शुरू हुआ. ये निर्वाचन क्षेत्र राज्य के तीन जिलों पश्चिमी मिदनापुर, बांकुरा व पुरुलिया में आते हैं.

निर्वाचन आयोग के एक अधिकारी ने कहा, “सुबह 11 बजे तक 45.15 फीसदी मतदान दर्ज किया गया. अभी तक हिंसा की कोई खबर नहीं मिली है.”

अधिकारी ने बताया कि इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन में खराबी की कुछ शिकायतें मिली थीं. उन्होंने कहा, “पश्चिम मिदनापुर में औसत 45.15 फीसदी, बांकुरा में 43.43 फीसदी और पुरुलिया में 45.02 फीसदी मतदान दर्ज किया गया.”

आयोग को अभी तक करीब 70 शिकायतें मिलीं, जिनमें से अधिकांश इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन में खराबी के बारे में थीं. वहीं, पुरुलिया विधानसभा क्षेत्र के बलरामपुत्र में मतदान केंद्र अधिकारी को मतदाताओं को प्रभावित करने के आरोप के बाद वहां से हटा दिया गया.

कांग्रेस और वाम मोर्चा ने आरोप लगाया कि तृणमूल कांग्रेस के कार्यकर्ता पुरुलिया में कई मतदान केंद्रों पर मतदाताओं को प्रभावित करने की कोशिश कर रहे थे, हालांकि सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस ने आरोप को गलत बताया है.

18 निर्वाचन क्षेत्रों के लिए हो रहे इस चुनाव में तृणमूल, कांग्रेस-वाम मोर्चा गठबंधन और भारतीय जनता पार्टी मैदान में हैं.

सुरक्षा के लिहाज से हेलीकॉप्टरों के अलावा एक एयर एंबुलेंस और त्वरित प्रतिक्रिया टीम तैनात है.

नक्सलवाद से प्रभावित 13 निर्वाचन क्षेत्रों में मतदान दो घंटे पहले यानी शाम चार बजे खत्म हो जाएगा.

पहले चरण के मतदान में 16 किन्नरों सहित 40,09,171 मतदाता अपने मताधिकार का प्रयोग करेंगे. इस चरण में 133 उम्मीदवारों के भविष्य का फैसला होना है.

294 विधानसभा सीटों के लिए सात दिन मतदान होंगे. आखिरी दिन का मतदान पांच मई को होगा.

चुनाव मैदान में उतरे प्रमुख उम्मीदवारों में ऑल इंडिया तृणमूल कांग्रेस से राज्य मंत्री सुकुमार हंसदा और गोपीवल्लभपुर से मार्क्‍सवादी कम्युनिस्ट पार्टी के पुलिन बिहारी बास्के शामिल हैं. हंसदा झारग्राम विधानसभा क्षेत्र से मैदान में हैं.

मतदान की अन्य छह तारीखें 11, 17, 21, 25, 30 अप्रैल और पांच मई है.


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *