हिम्मतवाला: नई पैकेजिंग में बासी माल

रायपुर | इंटरनेट डेस्क: मसाला फिल्में बनाने वाले निर्देशक साजिद खान 1983 में आई फिल्म हिम्मतवाला का रीमेक इसी शीर्षक के साथ लेकर आए हैं, लेकिन फिल्म का बासी मसाला दर्शकों को सिनेमाघरों तक खींचने में नाकामयाब रहा है. दरअसल फिल्म की कहानी और निर्देशन जीतेंद्र और श्रीदेवी द्वारा अभिनित मूल फिल्म हिम्मतवाला से बिल्कुल भी अलग नहीं है. हिम्मतवाला भले ही उस साल की सबसे ज्यादा मुनाफा कमाने वाली फिल्म थी, बावजूद इसके उसे बी ग्रेड की फिल्म माना जाता है.

कहानी के अलावा फिल्म के कलाकार अजय देवगन और नवोदित अभिनेत्री तमन्ना भी जीतेंद्र और श्रीदेवी की नकल करते दिखते हैं. 80 के दशक के घिसेपिटे फर्मूलों को लेकर बनी ये फिल्म नई पीढ़ी के दर्शकों को बिल्कुल भी प्रभावित नहीं करती दिखती है. एक ऐसे समय में जब फिल्मकार कहानी और निर्देशन को लेकर नए-नए प्रयोग कर रहे हों, दर्शकों को 80 की दशक की ये कहानी कितनी पसंद आई ये फिल्म के बॉक्स आफिस पर शुरुआती प्रर्दशन से ही स्पष्ट हो जाता है.

फिल्म में परेश रावल और महेश मांजरेकर की छोड़ी बहुत कॉमेडी ही दर्शकों को अजय देवगन की जीतेंद्रछाप एक्टिंग और बाकी एक्टरों की कामचलाऊ एक्टिंग से कुछ हद तक बचाती है. कुल मिला कर ये ही कहा जा सकता है कि हिम्मतवाला नई पैकेजिंग में वही बासी माल है जो ऐसे गिनेचुने दर्शकों को ही पसंद आएगा जो अपना दिमाग घर पर ही छोड़कर फिल्म देखने जाना पसंद करते हों.


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *