हिंगोरा अपहरण में दोषियों को सख्त सज़ा होगी: नीतीश

पटना | एजेंसी: गुजरात के उद्योगपति हनीफ हिंगोरा के अपहृत बेटे सोहैल हिंगोरा को भले ही बिहार के छपरा से बरामद कर लिया गया हो, लेकिन इस प्रकरण में एक मंत्री का नाम आने के बाद मामला राजनीतिक हो गया है. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने गुरुवार को इस प्रकरण पर चुप्पी तोड़ते हुए कहा कि इस मामले में जिस किसी की संलिप्तता साबित होगी, उसे बख्शा नहीं जाएगा.

मुख्यमंत्री ने पटना में पत्रकारों से कहा कि इस पूरे मामले की जांच का निर्देश पुलिस महानिदेशक को दे दिया गया है. इससे संबंधित कई तरह की खबरें आ रही हैं, लेकिन इस मामले में किसी को बख्शा नहीं जाएगा, चाहे कितना ही रसूख वाला क्यों न हो. उन्होंने कहा कि इस मामले में अगर किसी के पास कोई पुख्ता जानकारी हो तो उसे सबूत के साथ सामने आना चाहिए, तभी दोषियों के खिलाफ कारवाई की जा सकती है.


उल्लेखनीय है कि 29 अक्टूबर को दमन से सोहैल का अपहरण कर लिया गया था और फिरौती की रकम 25 करोड़ रुपये मांगी गई थी. अपहर्ता सोहैल को अगवा कर छपरा ले आए थे.

दमन पुलिस ने चार दिन पूर्व सोहैल को छपरा से बरामद किया और इस सिलसिले में रंजीत सिंह को पुलिस द्वारा गिरफ्तार किया था. गुजरात के उद्योगपति हिंगोरा ने आरोप लगाया है कि उसके बेटे के अपहरण में बिहार के एक मंत्री का भी हाथ है.

इस मामले में उद्योगपति हनीफ हिंगोरा का दावा है कि उन्होंने 25 करोड़ की फिरौती अपहर्ताओं के देकर अपने पुछ सोहैल को छुड़वाया है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!