जनजातियों की जमीन पर अवैध उत्खनन

रायपुर | एजेंसी: छत्तीसगढ़ के कबीरधाम जिले के ग्राम दलदली के जनजातियों ने कलेक्टर से उनकी निजी जमीन पर छत्तीसगढ़ मिनरल्स कंपनी द्वारा बाक्साइट का अवैध उत्खनन करने की शिकायत की है. उन्होंने उत्खनन रोकने तथा मुआवजा दिलाने की मांग की है.

एसडीएम अश्वनी देवांगन ने कहा है कि किसानों ने मुआवजे की मांग को लेकर आवेदन दिए हैं. इनके मालिकाना हक संबंधी दस्तावेजों की जांच के बाद ही कोई कार्रवाई हो पाएगी.


जिले के विकासखंड बोड़ला अंतर्गत वनांचल क्षेत्र के ग्राम दलदली के भूमि स्वामी रनमत सिंह पिता छेदी गोड़ ने बताया कि उनकी जमीन ग्राम दलदली हल्का नं 02 में है. जिसका खसरा नं 99 एवं रकबा 2.26 एकड़ है. इसी प्रकार फूंदी लाल पिता बुद्धी गोड़ खसरा नं 98 रकबा 5 एकड़ है.

रनमत गोड़ ने बताया कि उक्त भूमि का पट्टा उन्हें शासन द्वारा 1986 में दिया गया है, जिसमें वे लोग 40 सालों से कास्तकारी करते आ रहे हैं. बावजूद इसके छत्तीसगढ़ मिनरल्स कंपनी द्वारा बगैर कोई जानकारी के जबरिया उनके खेत में बाक्साइट पत्थर खनन किया जा रहा है, जिससे उनके सामने रोजी-रोटी की समस्या उत्पन्न हो गई है.

कृषकों का कहना है कि उक्त जमीन में वे कोदो, कुटकी की फसल उगाकर परिवार का भरण-पोषण करते हैं. किसानों ने पटवारी पर गलत जानकारी देने व परेशान करने का भी आरोप लगाया है.

जिला खनिज अधिकारी के.के. गोलघाटे का कहना है की शासकीय जमीन पर ही छत्तीसगढ़ मिनरल्स को बाक्साइट उत्खनन के लिए चिन्हांकित किया गया है. किसानों ने कलेक्टर को आवेदन दिया है. कलेक्टर के निदेर्श पर आगे की कार्रवाई की जाएगी.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!