पीएम ने गिनाई सरकार की उपलब्धियां

नई दिल्ली | समाचार डेस्क: स्वतंत्रता दिवस के मौके पर पीएम मोदी ने सरकार की उपलब्धियां गिनाई. इसी के साथ संवतंत्रता सेनानियों का पेंशन 25 हजार रुपये प्रतिमाह से बढ़ाकर 30 हजार रुपये करने की भी घोषणा की. उन्होंने आतंकवाद, माओवाद तथा उग्रवाद का जिक्र करते हुये कहा कि इससे किसी का भला नहीं हो सकता और न ही सरकार इसके आगे कभी झुकेगी. प्रधानमंत्री मोदी ने इन कार्यो में लगे नौजवानों से हिंसा छोड़कर मुख्यधारा में शामिल होने की अपील की.

उन्होंने कहा कि बलूचिस्तान, पीओके के लोगों ने जिस तरह मेरा आभार जताया है, मेरे प्रति सद्भावना जतायी है. उन्होंने कहा कि जिन्हें मैंने देखा नहीं, जिस धरती पर मैं नहीं गया, वहां के लोग मेरा अभिनंदन करते हैं, यह सवा सौ करोड़ भारतीयों का सम्मान है. मैं तहे दिन से पीओके के लोगों के प्रति आभार प्रकट करता हूं.


लाल किले की प्रचीर से प्रधानमंत्री मोदी ने कहा समाज की बुराइयों अगर जटिल है, उसका इलाज भी कठोरता से करना होगा. समाज में ठकराव की स्थिति को खत्म करना होगा. हम सब को सामाजिक बुराइयों से लड़ना होगा, तभी हम सशक्त हिंदुस्तान बना सकते हैं. सशक्त हिंदुस्तान सशक्त समाज के बिना नहीं बन सकता है. सिर्फ आर्थिक प्रगति से यह नहीं हो सकता है. सामाजिक अधिष्ठान पर ही सशक्त समाज बनता है. इसलिए हमारा यह कर्तव्य है कि हम सब मिल कर देश को आगे बढ़ाना है.

सरकार की उपलब्धियां-

-पहले एक मिनट में दो हजार रेल टिकट बनते थे, आज 15 हजार टिकट बनते हैं.

-पहले पासपोर्ट के लिए लोगों को परेशान रहना पड़ता था, आज यह हफ्ते-दो हफ्ते में मिल जाता है.

-हमने ग्रुप सी व ग्रुप डी के नौ हजार पदों से इंटरव्यू को खत्म कर दिया और नौकरी मैरिट के आधार पर देने का निर्णय लिया है. इससे भ्रष्टाचार खत्म होगा.

-प्रधानमंत्री ने कहा कि हमने ग्रामीण सड़क निर्माण में प्रतिदिन के हिसाब से हिसाब किया है.

-हमने 60 सप्ताह में चार करोड़ लोगों गैस कनेक्शन दिया, पहले 60 साल में 16 करोड़ लोगों को गैसे कनेक्शन मिला था.

-हमने 1700 कानूनों को खोजा और उसे रद्द करने की दिशा में कदम बढ़ाया. कुछ का संसद से रद्द कराया व राज्यों को रद्द करने को कहा.

-प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि 21 करोड़ लोगों को जनधन योजना से जोड़ा. यह बहुत मुश्किल काम लग रहा था.

-हमने एक करोड़ नये शौचालय हमने बनाया.

-हमने इसी लालकिला के प्राचीर से हमने कहा था कि 18 हजार गांवों में बिजली पहुंचायेंगे, उन्हें हमने एक हजार दिन में बिजली पहुंचाने का संकल्प लिया था, जिसमें अबतक 10 हजार गांवों में हमने बिजली पहुंचा दी है.

-हमने 350 रुपये में मिलने वाले बल्ब को 50 रुपये में बांट रहे हैं. अबतक 13 करोड़ बल्ब हमने बांटा है. 70 करोड़ बल्ब बांटने का हमारा संकल्प है. इससे 20 हजार मेगावाट बिजली बचेगी.

-कतर के साथ हमारा गैस का एग्रीमेंट 2024 तक का है, लेकिन यह महंगा पड़ता था. हमने फिर से बात की और गैस के दाम कम करवाये और देश के 20 हजार करोड़ रुपये बचाये.

-हमने 77 हजार सोलर पंप बांटने में सफलता पायी है. हमारे वैज्ञानिकों ने 131 प्रकार के नये बीज तैयार किये हैं, जिससे उत्पादन बढ़ेगा.

-हमने फसल बीमा योजना बनायी है. हमने पहली बार कम से कम प्रीमियम पर अधिक से अधिक व गारंटी के साथ फसल बीमा देने का फैसला किया है.

-हमने 15 लाख टन अनाज के भंडारण के लिए गोदामों का निर्माण किया है.

-हमने फूड संस्करण में 100 प्रतिशत एफडीआइ को प्रोत्साहित किया है.

-रेल परियोजना की मंजूरी की काम में हमने तेजी लायी.

-गन्ना किसानों का बकाया बड़ा मुद्दा था. हमने 99.5 प्रतिशत गन्ना किसानों का बकाया चुका दिया.

-हमने डाकघरों को डाक बैंक में बदला. डाक घर को पेमेंट बैंक में बदला. डाकिया जो समाज का अहम हिस्सा है, उसकी भूमिका बदली.

-हमने बीएसएनएल को व शिपिंग कॉरपोरेशन को लाभ में लाया. उन्होंने कहा कि बिजली घरों को हमने कोयला आपूर्ति की सुचारु व्यवस्था करायी.

-हमने स्पेक्ट्रम नीलामी की व्यवस्था आनलाइन की है. इससे देश का खजाना बढ़ा व पारदर्शिता आयी.

देश के विकास की चर्चा करते हुये प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि यूएन ने अनुमान लगाया है कि आज भारत की इकोनॉमी दसवें नंबर पर है और दो साल में यह तीसरे नंबर पर आ जायेगा. प्रधानमंत्री ने कहा वैश्विक अर्थव्यवस्था में विभिन्ना मानकों के आधार पर रैंकिंग होती है, भारत इसमें 18 अंक ऊपर आया है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!