T-20 में भारत 47 रनों से हारा

नागपुर | समाचार डेस्क: भारत टी-20 का विश्व कप पहला मैच न्यूजीलैंड से 47 रनों से हार गया. भारतीय पारी 18.1 ओवरों पर 79 रनों पर ही सिमटकर रह गई. यह किसी भी देश द्वारा भारत में टी-20 मैचो के दौरान बनाये गया न्यूनतम रन संख्या है. न्यूजीलैंड क्रिकेट टीम ने अपनी शानदार गेंदबाजी के दम पर मंगलवार को टी-20 विश्व कप के अपने पहले मैच में भारत को करारी शिकस्त दी. विदर्भ क्रिकेट संघ मैदान पर खेले गए मैच में न्यूजीलैंड ने मेजबान भारत को 47 रनों से मात दी. टी-20 में यह भारत की न्यूजीलैंड के खिलाफ लगातार पांचवी हार है. यह विश्व कप के सुपर 10 दौर के ग्रुप -2 का पहला मैच था.

कीवी टीम ने टॉस जीत कर पहले बल्लेबाजी करते हुए निर्धारित 20 ओवरों में सात विकेट के नुकसान पर 126 रन बनाए थे. छोटे से लक्ष्य के आगे भारतीय टीम का मजबूत बल्लेबाजी क्रम पूरी तरह ढह गया और टीम 18.1 ओवर में 79 रन पर ही आउट हो गई.

भारत की तरफ से सबसे ज्यादा रन कप्तान महेन्द्र सिंह धौनी (30) ने बनाए. उनके अलावा पूरी टीम न्यूजीलैंड की स्पिन तिकड़ी नाथन मैक्लम, मिशेल सैंटनर और इश सोढ़ी के आगे धराशायी हो गई. तीनों ने भारतीय टीम के नौ बल्लेबाजों को पवेलियन भेजा.

सैंटनर ने सबसे ज्यादा चार विकेट लिए. सोढ़ी को तीन और मैक्लम को दो विकेट मिले. सैंटनर को मैन ऑफ द मैच चुना गया.

यह भारत में टी-20 में किसी भी टीम द्वारा बनाया गया न्यूनतम स्कोर और भारतीय टीम का टी-20 में दूसरा न्यूनतम स्कोर है. इससे पहले भारतीय टीम 2007-2008 में मेलबर्न क्रिकेट मैदान पर आस्ट्रेलिया के सामने 74 रनों पर ढेर हो गई थी.

भारतीय टीम न्यूजीलैंड के खिलाफ टी-20 में अपने हार के सिलसिले को नहीं तोड़ पाई. भारत और न्यूजीलैंड के बीच टी-20 में अभी तक पांच मुकाबले हुए हैं और भारतीय टीम को पांचों मुकबालों में हार झेलनी पड़ी है.

छोटे से लक्ष्य का पीछा करने उतरी भारतीय टीम की शुरुआत अच्छी नहीं रही. सलामी बल्लेबाज शिखर धवन (1) पहले ओवर की पांचवी गेंद पर मैक्लम का शिकार हुए. दूसरे सलामी बल्लेबाज रोहित शर्मा (5) भी तीसरे ओवर में 10 के कुल स्कोर पर सैंटनर का शिकर बने. दो गेंद बाद सुरेश रैना (1) को भी सैंटनर ने पवेलियन भेजा.

पिछले कुछ मैचों से बल्ले से रन बरसाने वाले युवराज सिंह (4) को मैक्लम ने अपना दूसरा शिकार बनाया. कीवी टीम के स्पिन आक्रमण के सामने भारतीय बल्लेबाजी कहीं नहीं ठहरी. भारतीय टीम की बल्लेबाजी की धुरी विराट कोहली (23) भी सोढ़ी की स्पिन के आगे कुछ नहीं कर पाए और पवेलियन लौट गए.

धौनी एक छोर संभाले हुए थे लेकिन दूसरे छोर से उन्हें साथ नहीं मिला. हार्दिक पंड्या (1), रविन्द्र जडेजा (0) रविचन्द्रन अश्विन (10) जल्द ही पवेलियन लौट गए थे. धौनी को सैंटनर ने 18वें ओवर में पवेलियन भेजा. आशीष नेहरा (0) भारत की तरफ से आउट होने वाले आखिरी बल्लेबाज थे.

तीनों स्पिनर के अलावा तेज गेंदबाज एडम मिलने ने एक विकेट लिया.

इससे पहले टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने उतरी कीवी टीम को अच्छी शुरुआत नहीं मिली. टीम ने 35 के कुल स्कोर पर अपने शीर्ष तीन बल्लेबाज मार्टिन गुपटिल (6), कोलिन मुनरो (7) और कप्तान केन विलियमसन (8)को खो दिया था.

गुपटिल ने पारी का पहला ओवर लेकर आए अश्विन की पहली गेंद पर उनके सर के ऊपर से शानदार छक्का जड़ अपने इरादे जता दिए थे. अश्विन ने हालांकि दूसरी गेंद पर वापसी की और गुपटिल को पगबाधा कर पवेलियन का रास्ता दिखाया.

अगले ही ओवर में आशीष नेहरा ने कोलिन मुनरो (7) को हार्दिक पंड्या के हाथों कैच करा टीम को दूसरी सफलता दिलाई. पार्ट टाइम गेंदबाज सुरेश रैना ने विलियिमसन को पवेलियन भेज टीम को तीसरा झटका दिया. इसके बाद कोरी एंडरसन (34) ने पारी को संभाला. खतरनाक दिख रहे एंडरसन को जसप्रीत बुमराह ने बोल्ड कर टीम को बड़ी सफलता दिलाई.

अंतिम ओवरों में ल्यू रोंची ने 11 गेंदों में 21 रन बटोर कर कीवी टीम को 126 के स्कोर तक पहुंचाया. रोंची ने दो चौके लगाए और एक छक्का जड़ा.

भारत की तरफ से अश्विन, नेहरा, बुमराह, रैना, जडेजा सभी ने एक-एक विकेट लिया. दो बल्लेबाज रन आउट हुए और एक बल्लेबाज स्टम्प हुआ.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *