ट्रेड फेयर में पाकिस्तानी उत्पादों की धूम

नई दिल्ली | एजेंसी: भारतीय अंतर्राष्ट्रीय व्यापार मेला-2013 के प्रथम दिन शुक्रवार को यहां प्रगति मैदान में पाकिस्तान पैवेलियन में काफी भीड़ देखी गई.

कराची, लाहौर, मुल्तान और पाकिस्तान के अन्य हिस्सों से व्यापारियों ने मेले में करीब 87 स्टॉल लगाए हैं. ये स्टॉल वस्त्रों, बर्तनों, मसालों, सिरामिक कलाकृतियों, जूतों और हस्तशिल्प के हैं.


इमरान जफर ने कहा, “पिछले तीन साल से मैं मेले में आ रहा हूं. लोग पाकिस्तानी वस्तुओं को पसंद करते हैं. हर साल हमारी काफी बिक्री होती है.” उन्होंने पाकिस्तानी डिजाइन वाले ‘इजनोश’ डिजाइनर ब्रांड के सलवार और कुर्तो की प्रदर्शनी लगाई है.

कुर्ता खरीद रही एक खरीदार सपना जैन ने कहा, “मैं पिछले सात-आठ साल से इन स्टॉलों पर आती हूं. यहां कीमत अधिक नहीं होती है.”

ब्राहती ब्रांड की मालिक हुमा नसर ने हंसते हुए कहा, “हमारी प्रतियोगिता भारत के मनीष मलहोत्रा, तरुण तहिलयानी और सब्यसाची मुखर्जी से होती है.”

उन्होंने कहा कि वह ग्राहकों से नाता बनाने में विश्वास करती हैं. उन्होंने कहा कि भारतीय ग्राहक ऑनलाइन माध्यम से ऑर्डर भेजते हैं और वह डीएचएल से आपूर्ति करती हैं. उनके परिधानों की कीमत 4,000 रुपये से एक लाख रुपये के बीच है. उनकी दुकानें कराची के अलावा दुबई, मुंबई और अमेरिका में भी हैं.

एक खरीदार ने कहा, “पाकिस्तानी वस्त्रों की सानी नहीं है. भारतीय सलवार-कुर्ता उतने खूबसूरत नहीं होते, जितने पाकिस्तानी होते हैं.”

ओनिक्स पत्थर से बने घरेलू और सजावटी सामान बेचने वाले जुबेर हुसैन ने कहा, “हम काफी अच्छा कारोबार करते हैं, लेकिन सबसे बड़ी बात यह है कि यहां लोग बड़े अच्छे हैं.” वह 2005 से मेले में हिस्सा ले रहे हैं.

उल्लेखनीय है कि भारत और पाकिस्तान के बीच 2012-13 में 2.60 अरब डॉलर का व्यापार हुआ, लेकिन दुबई जैसे तीसरे रास्ते से दोनों देशों के बीच 10 अरब डॉलर से अधिक कारोबार होने का अनुमान है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!