अफगानिस्तान में भारतीय निवेश

नई दिल्ली | एजेंसी: अफगानिस्तान में इन दिनों आम तौर पर शांति है और वह सस्ती बिजली, भूमि और कर से संबंधित प्रोत्साहनों और छूटों के साथ भारतीय निवेश का स्वागत कर रहा है. अफगानिस्तान के एक मंत्री ने भारतीय कारोबारियों से अवसर का लाभ उठाने की अपील की और वहां कारोबार के लिए सुरक्षित माहौल देने का वादा किया.

अफगानिस्तान के कृषि मंत्री आसिफ रहीमी ने अगले वर्ष अंतर्राष्ट्रीय सैन्य बलों के अफगानिस्तान से बाहर चले जाने के बाद असुरक्षा की स्थिति पैदा होने की संभावना से इंकार किया.

दिल्ली दौरे के दौरान रहीमी ने कहा, “सुरक्षा के लिए व्यापक कदम उठाए गए हैं. कोई खालीपन पैदा नहीं होगा, क्योंकि अफगानिस्तान राष्ट्रीय सेना और अफगान राष्ट्रीय पुलिस के 3,50,000 जवान अंतर्राष्ट्रीय सेना के अफगानिस्तान छोड़ने के बाद पैदा हुई खाली जगह को भर देंगे.”

उन्होंने कहा, “यह अभी भी हो रहा है. 80 फीसदी अफगानिस्तान की भूमि पर हमारी सेना और पुलिस की तैनाती कर दी गई है. शेष 20 फीसदी काम 2014 के आखिर में हो जाएगा.”

अफगानिस्तान के कबीना मंत्री ने कहा कि उनके देश की सरकार चाहती है कि अफगानिस्तान में इस बदलाव से पहले निवेश करने वालों के लिए दिए जा रहे प्रोत्साहनों का कारोबारी लाभ उठाएं.

उन्होंने कहा, “अगला वर्ष बदलाव का होगा और अफगानिस्तान सरकार ने निवेशकों के लिए कई प्रोत्साहन तय किए हैं. निवेश को आसान बनाने के लिए कम दर पर बिजली, भूमि की आसान उपलब्धता, कर छूट और सीमा शुल्क छूट जैसे लाभ दिए जा रहे हैं. ये प्रोत्साहन 2015 तक लागू रहेंगे, इसलिए हम भारतीय निवेशकों को अवसर का लाभ उठाने के लिए प्रोत्साहित करते हैं.”

अफगानिस्तान में भारतीयों पर तालिबान हमले की चिंता के बारे में रहीमी ने कहा कि ऐसी घटनाओं की संख्या कम है और सरकार सुरक्षित क्षेत्रों में निवेश को बढ़ावा दे रही है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *