जेल में दूर-दूर रहेंगे भारत-पाक कैदी

जम्मू:पाकिस्तानी कैदी सनाउल्ला की जम्मू के कोट भलवाल जेल में बेरहम पिटाई की घटना के बाद भारत-पाक कैदियों को एक दूसरे से दूर रखने की कवायद की जा रही है.पाकिस्तानी कैदियों और भारतीय कैदियों के बीच किसी भी प्रकार की भिड़ंत को रोकने के लिए जेल प्रशासन द्वारा ऐसे इंतजाम किए जा रहे हैं जिससे इनका एकदूसरे से सामना ही न हो.

कोट भलवाल जेल प्रशासन ने इसके लिए अपने नियमों में अमूलचूल बदलाव किए है. अब इन कैदियों को किसी भी काम के लिए आवंटित समय में ही बैरक से बाहर निकलने के इजाजत होगी. नए नियमों के अनुसार पाकिस्तानी कैदियों का बैरक से बाहर निकलने समय ऐसा रखा गया है जिससे कि उनका सामना भारतीय कैदियों से न हो.


शनिवार को गृह सचिव सुरेश कुमार व डायरेक्टर जनरल (डीजी), जेल के राजेंद्रा ने कोट भलवाल का दौरा कर जेल के सुरक्षा उपायों की समीक्षा की और इसके बाद ये नए दिशा-निर्देश जारी किए. गृहसचिव और डीजी ने जेल प्रशासन के अधिकारियों के साथ बैठक कर सख्त हिदायत दी कि पाकिस्तानी कैदियों की सुरक्षा में कोई कमी न होने पाए.

उल्लेखनीय है कि एक पाकिस्तानी ल में बंद भारतीय कैदी सरबजीत सिंह की साथी कैदियों ने पिटाई कर दी थी जिसके बाद उसकी मृत्यु हो गई थी. इस घटना के बाद कोट भलावल जेल में विनय कुमार नामक कैदी ने सनाउल्ला नामक पाकिस्तानी कैदी की बुरी तरह पिटाई कर दी थी जिसके बाद उसे अस्पताल में भर्ती कराना पड़ा था.

सनाउल्ला को पहले जम्मू के सरकारी मेडिकल कालेज भेजा गया लेकिन हालत बिगड़ने के बाद उसे एयर एंबुलेंस के जरिये पीजीआई चंडीगढ़ भेजा गया जहां उसकी हालत गंभीर बनी हुई है. इसी के बाद से ही भारतीय जेलों में पाकिस्तानी कैदियों की सुरक्षा को लेकर सवाल उठ रहे थे.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!