भारतीय छात्रों की पसंद अमरीका

वाशिंगटन | एजेंसी: अमरीकी विश्वविद्यालयों से स्नातक करने वाले भारतीय छात्रों की संख्या में वृद्धि दर्ज की गई है, विदेशी छात्रों में भारत का हिस्सा 40 फीसदी है. इधर, चीनी छात्रों की संख्या में इस साल पांच फीसदी की वृद्धि हुई है. यह जानकारी एक अध्ययन से सामने आई है.

285 सदस्यों वाली काउंसिल ऑफ ग्रैजुएट स्कूल्स के वार्षिक सर्वेक्षण के मुताबिक, 2013 में भारतीय छात्रों की संख्या में 40 प्रतिशत की वृद्धि हुई है जबकि 2012 में इसमें एक फीसदी और 2011 में दो फीसदी की वृद्धि हुई थी.

सीजीएस अध्यक्ष देब्रा डब्ल्यू.स्टीवर्ट ने कहा, “भारतीय छात्रों के नामांकन में पहली बार संतोषजनक वृद्धि सकारात्मक है, भारतीय नामांकन में अस्थिरता की वजह से हाल के समय में निश्चित चलन के बारे बताना कठिन हो गया था.”

अमरीका में पहली बार स्नातक पाठ्यक्रम में विदेशी छात्रों के नामांकन में 10 फीसदी की वृद्धि हुई है, यहां विदेशी छात्रों की संख्या 2,20,317 हो गई है, जो अमेरिकी स्नातक छात्रों के 15 फीसदी हैं.

लगातार सात सालों में पहली बार चीनी छात्रों की संख्या में पांच फीसदी की वृद्धि हुई है, जबकि यह संख्या 2012 में 22 और 2011 में 21 फीसदी रही है.

अमरीका में भारतीय एवं चीनी छात्रों की संख्या अंतर्राष्ट्रीय छात्रों की 34 फीसदी है. इन दोनों देशों के बाद दक्षिण कोरिया के स्नातक छात्रों की संख्या यहां सबसे ज्यादा है.

सर्वेक्षण के मुताबिक, 2013 में नामांकन पाने वाले यूरोपीय छात्रों की संख्या सात फीसदी, अफ्रीकी छात्रों की तीन फीसदी और मध्यपूर्व की छह फीसदी है.

अंतर्राष्ट्रीय छात्रों के बीच दो महत्वपूर्ण विषय भौतिक एवं भूगर्भ विज्ञान हैं. 2013 में 47 फीसदी अंतर्राष्ट्रीय छात्रों ने गणित, कंप्युटर साइंस, इंजीनियरिंग, भौतिक एवं भूगर्भ विज्ञान के पाठ्यक्रमों में नामांकन कराया था.

अमरीका के सभी चार प्रमुख क्षेत्रों में 2013 में नामांकनों में तेजी देखी गई है, पश्चिम में 17 फीसदी, मध्य-पश्चिम में 12, पूर्वोत्तर में 9 और दक्षिण में सात फीसदी की वृद्धि हुई है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *