भारत की साख रेटिंग बढ़ी

नई दिल्ली | समाचार डेस्क: मोदी सरकार के आने के बाद देश की आर्थिक साख बढ़ी है. रेटिंग कंपनी मूडीज ने भारत की साख को अब सकारात्मक माना है. वैश्विक रेटिंग एजेंसी मूडीज ने गुरुवार को भारत की साख रेटिंग स्थिर से बढ़ाकर सकारात्मक कर दी. वित्त मंत्रालय ने इस घटनाक्रम को महत्वपूर्ण बताया और सुधार की दिशा में और काम करने का वादा किया. मूडीज इंवेस्टर्स सर्विस ने एक बयान जारी कर कहा, “अनुकूल जनसांख्यिकी, आर्थिक विविधता, अधिक बचत और निवेश के कारण भारत की विकास दर गत एक दशक में समान रेटिंग वाले देशों के मुकाबले अधिक रही है.” बयान में साथ ही कहा गया कि इससे देश का आर्थिक विस्तार जारी रहेगा.

बयान में कहा गया है, “मूडीज का रेटिंग को स्थिर से सकारात्मक करने का फैसला इस धारणा पर आधारित है कि नीति निर्माताओं के कार्यो से देश की आर्थिक ताकत बढ़ेगी.”

मूडीज ने भारत को दी गई साख रेटिंग बीएए3 हालांकि नहीं बढ़ाई और इस दिशा में कुछ और संकेतों का इंतजार करना उचित समझा. दिसंबर 2013 में तत्कालीन संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन सरकार के कार्यकाल के समय मूडीज ने रेटिंग घटाने की चेतावनी दी थी.

मूडीज ने यह भी स्पष्ट किया कि आने वाले समय में वह किस आधार पर रेटिंग बढ़ाने का फैसला कर सकती है. उसने कहा, “आने वाले महीने में यदि यह प्रमाण मिलता है कि सरकार को आर्थिक और सांस्थानिक सुधारों से विकास दर बढ़ाने और उसे स्थिर बनाए रखने में सफलता मिल सकती है, तो रेटिंग बढ़ाने के बारे में विचार किया जा सकता है.”

ताजा घटनाक्रम पर अपनी प्रतिक्रिया में वित्त मंत्री अरुण जेटली ने कहा, “मूडीज ने रेटिंग परिदृश्य को स्थिर से बढ़ाकर सकारात्मक कर दिया है और इसकी रेटिंग बीएए3 बरकरार रखी है. रेटिंग में बढ़ोतरी महत्वपूर्ण है, लेकिन हमें और भी बहुत कुछ करने की जरूरत है.”

देश के आर्थिक परिदृश्य को मूडीज द्वारा स्थिर से सकारात्मक करने का शेयर बाजारों पर भी सकारात्मक प्रभाव पड़ा.

बंबई स्टॉक एक्सचेंज का 30 शेयरों पर आधारित संवेदी सूचकांक सेंसेक्स 177.46 अंकों की तेजी के साथ 28,885.21 पर और नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का 50 शेयरों पर आधारित संवेदी सूचकांक निफ्टी 63.90 अंकों की तेजी के साथ 8,778.30 पर बंद हुआ.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *