संक्रमण रोकेगा मलेरिया

न्यूयॉर्क | एजेंसी: क्या आपने कभी संक्रमित मच्छर के बारे में सुना है? जी हां, एक नए अध्ययन के मुताबिक मच्छर भी संक्रमित होते हैं. मजेदार बात तो यह है कि मच्छरों के संक्रमण से मलेरिया का इलाज हो सकता है.

शोधकर्ताओं ने पाया है कि एनोफेलीज मच्छरों की दो जातियां जो इंटरसेक्यूलर बैक्टीरिया युक्त होती हैं, मलेरिया फैलाती हैं.


इस संक्रमण को वोल्बाचिया कहते हैं, जो मच्छरों के पैथोजेन संक्रमण को कम करती हैं और मलेरिया फैलाने वाले मच्छरों की संख्या को नियंत्रित करने का सामर्थ्य रखती हैं.

वोल्बाचिया एक बहुत ही रोचक बैक्टीरिया है जो मच्छरों को नियंत्रित करने में समर्थ है. हावर्ड स्कूल ऑफ पब्लिक हेल्थ की फ्लेमिनिया कतेरुकिया का कहना है कि अभी इसे लेकर संदेह है कि ये एनोफेलीज के खिलाफ कभी भी उपयोग में लाया जाएगा.

उन्होंने कहा कि हम इससे बहुत उत्साहित हैं कि यह मलेरिया फैलाने वाले मच्छरों को नियंत्रित करेगा.

एनोफेलीज मच्छर कभी न मरने वाले मच्छर हैं. ये मलेरिया फैलाने के जिम्मेदार होते हैं, जिसकी वजह से हर साल छह लाख मौतें होती हैं, और पूरी दुनिया में मलेरिया फैलने की आशंका बनी रहती है. ये शोध नेचर कम्यूनेकेशन नाम के ऑनलाइन जनरल में प्रकाशित हुआ है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!