केजरीवाल पर स्याही, साजिश या विरोध

नई दिल्ली | समाचार डेस्क: केजरीवाल पर स्याही फेंकना साजिश का हिस्सा है या महज विरोध प्रदर्शन करना? जिस महिला ने दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल पर स्याही फेंकी है वह सीनजी घोटाले का आरोप लगा रही है. वहीं दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने इसे साजिश करार दिया है. उल्लेखनीय है कि एक महिला ने रविवार को दिल्ली की आम आदमी पार्टी सरकार पर ‘सीएनजी घोटाले’ का आरोप लगाते हुए मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल पर स्याही फेंक दी. राष्ट्रीय राजधानी में 15 दिवसीय सम-विषम योजना की सफलता के उपलक्ष्य में आयोजित एक समारोह में यह घटना हुई. उत्तरी दिल्ली के छत्रसाल स्टेडियम में घटना के दौरान केजरीवाल पूरी तरह संयमित दिखे. पुलिस ने महिला को हिरासत में ले लिया.

महिला ने अपना नाम भावना अरोड़ा बताया. उसने कहा कि वह कथित तौर पर पंजाब में आम आदमी पार्टी से अलग हुए समूह से संबंध रखती है.

महिला स्याही फेंकने के लिए मंच के नजदीक तक पहुंचने में सफल रही.

उसने कहा, “बहुत बड़ा घोटाला हुआ है. मेरे पास सबूत है. इन लोगों ने सीएनजी घोटाला किया है.”

पुलिस अधिकारियों ने महिला को पकड़ा. केजरीवाल ने उनसे कहा, “इन्हें जाने दीजिए. वह एक घोटाले के बारे में बात कर रही हैं. उनसे कागज ले लीजिए और उन्हें जाने दीजिए.”

उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने आरोप लगाया कि इस घटना के पीछे भारतीय जनता पार्टी और दिल्ली पुलिस का हाथ है. यह केजरीवाल और उनके मंत्रियों पर हमले की ‘साजिश’ है.

घटना के बाद सिसोदिया ने कहा, “दिल्ली पुलिस की तरफ से कोई सुरक्षा नहीं प्रदान की गई. यह भाजपा की साजिश है और दिल्ली पुलिस भी इसमें शामिल है.”

उन्होंने कहा, “कौन जिम्मेदारी लेगा अगर कोई महिला या पुरुष हजारों लोगों की मौजूदगी के बीच दिल्ली के मुख्यमंत्री पर तेजाब फेंक दे? या अगर कोई बम फट गया तो?”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *