आयरलैंड: जीवनरक्षक गर्भपात को मिली मंजूरी

लंदन: भारतीय मूल की आयरिश डेंटिस्ट सविता हलप्पनवार की मौत के बाद उठे विवाद ने आयरलैंड के गर्भपात कानून में बदलाव का रास्ता खोल दिया है. देश के गर्भपात कानून में संशोधन के बाद अब चिकित्सक उस महिला का गर्भपात कर सकेंगे जहां गर्भ की वजह से जननी के जीवन पर खतरा हो या वह आत्मघाती हो.

गुरुवार को आयरिश संसद में चली लंबी बहस के बाद इस बदलाव वाला विधेयक 27 के मुकाबले 131 मतों के साथ पारित हो गया. यानी की ज़्यादातर सांसदों ने इस बात पर सहमति जताई है कि अगर डॉक्टर को ऐसा लगता है कि गर्भपात न कराने से गर्भवती महिला की जान जा सकती है, तो ऐसी स्थिति में गर्भपात की अनुमति दी जानी चाहिए.


नए संशोधन का विरोध करने वाले सांसदों और लोगों का मानना था कि इससे आयरलैंड में लोग अब जानबूझकर गर्भ में बच्चा गिरवाने की कोशिश करेंगे.

उल्लेखनीय है कि सविता हलप्पनवार की पिछले साल उस समय मौत हो गई थी, जब आयरिश चिकित्सकों ने कैथोलिक देश होने और उसके गर्भपात से संबंधित कानून का हवाला दे उनका गर्भपात करने से इंकार कर दिया था. गर्भपात न होने की वजह से गर्भ में घाव सड़ गया और सविता की मौत हो गई थी जिसके बाद देशभर में गर्भपात कानून में जरूरी बदलाव करने के लिए बहस हो रही थी.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!