चीनी अलीबाबा, जैक की नज़र भारत पर!

नई दिल्ली | समाचार डेस्क: चीन के अलीबाबा, जैक मा की नज़र भारतीय बाजार पर है जाहिर है कि भारत की सवा अरब की आबादी अपने-आप में एक बहुत बड़ा बाजार है. उल्लेखनीय है कि भारत की करीब 12 करोड़ आबादी सोशल मीडिया पर सक्रिय है तथा इससे ज्यादा की संख्या इंटरनेट का उपयोग करती है. ऐसे में पड़ोसी चीन की सबसे बड़ी ई-कामर्स कंपनी अलीबाबा भारत में निवेश करना चाहती है जिससे दोनों देशों के ग्राहकों को फायदा होगा. यह दिगर बात है कि ई-कामर्स से रिटेल कारोबारियों को तबाह होने का खतरा मंडराता दिख रहा है. चीन की दिग्गज ई-कॉमर्स कंपनी अलीबाबा के संस्थापक और कार्यकारी अध्यक्ष जैक मा ने बुधवार को कहा कि वह भारत में निवेश बढ़ाना चाहते हैं. उन्होंने कहा, “दोनों देशों के रिश्तों में मजबूती लाने और यहां के लोगों की जीवनशैली को बेहतर करने के लिए मैं भारत में निवेश बढ़ाने और भारतीय उद्यमियों और भारतीय प्रौद्योगिकी के साथ काम करने के लिए प्रतिबद्ध हूं.”

जैक यहां पर भारतीय वाणिज्य और उद्योग परिसंघ, फिक्की द्वारा आयोजित झेजियांग चीन-भारत व्यापार सहयोगी सम्मेलन को संबोधित कर रहे थे.


इसी साल सितंबर में कंपनी का प्रथम सार्वजनिक निर्गम, आईपीओ जारी हुआ था, इसमें 2.5 करोड़ डॉलर जुटाकर कंपनी का आईपीओ साल का सबसे बड़ा आईपीओ बन गया था.

जैक ने कहा कि चीन के बाद अलीबाबा के सबसे ज्यादा उपयोगकर्ता भारत से हैं.

उन्होंने कहा, “वे अक्सर हमारी साइट का प्रयोग करते हैं. हम तकनीकी को एक मंच के रूप में विकसित कर रहे हैं जो कि भारत के छोटे कारोबारियों को हमारी सेवा लेकर पहचान बनाने में मदद करेगा.”

जैक ने कहा, “हमारा उद्देश्य आसानी से व्यापार करने में मदद करना है. अलीबाबा में हमारे पास 4,00,000 भारतीय ग्राहक हैं. वे ज्यादातर भारतीय चाय, मसाले और चॉकलेट खरीदते हैं. मुझे लगता है कि भारत के पास ऐसे कई उत्पाद हैं जो वह चीन को बेच सकता है.”

उन्होंने कहा, “इंटरनेट के माध्यम से भारत बदल रहा है. भारत कई सारे युवाओं वाला महान देश है. भारत एक आशावादी देश है. इंटरनेट युवा लोगों के लिए एक व्यापार है. भारत एक मोबाइल फोन वाला देश है.”

जैक ने कहा, “अगर दोनों देश साथ काम करें तो वे एक दूसरे के लिए फायदेमंद हो सकते हैं. दोनों ही देश बेहतरीन संस्कृति के धनी है. मुझे लगता है कि दोनों देशों के साथ काम करने और संस्कृति सुधारने का यह एक बहुत अच्छा अवसर है.”

प्रधानमंत्री मोदी के बारे में बात करते हुए उन्होंने कहा, “हाल ही में मैंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का एक भाषण सुना. यह बहुत ही जुनूनी और प्रेरणादायी भाषण था. एक उद्यमी होने के नाते मुझे इससे बहुत प्रेरणा मिली.” उल्लेखनीय है कि बाजार में अपने आईपीओ को जारी करने के बाद जैक मा की अलीबाबा अपने व्यार का विस्तार करना चाह रही है जिसके लिये भारत सबसे मुरीद जगह साबित हो सकता है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!