एक्सीडेंट में अधिकारी की परिवार समेत मौत

जगदलपुर | संवाददाता: बस्तर संभाग के पशु चिकित्सा विभाग में संयुक्त संचालक रहे डॉ. भानू कांवड़े की अपने परिवार समेत एक रोड एक्सीडेंट में मृत्यु हो गई. दुर्घटना में उनके साथ कार में मौजूद उनकी 70 वर्षीय माँ श्रीमती बुधनी कावड़े, 48 वर्षीय पत्नी श्रीमती मीना कावड़े की भी मौकास्थल पर ही मौत हो गई, जबकि उनके दो वर्षीय पुत्र अनूप कावडे ने कुछ देर बाद दम तोड़ दिया.

बताया जा रहा है कि डॉ. कावड़े अपने निजी कार आई-10 से कांकेर जिले के चारामा ब्लॉक स्थित अपने गृहग्राम एकला डोंगरी से वापस जगदलपुर लौट रहे थे, इसी दौरान शाम करीब 7 बजे राष्ट्रीय राजमार्ग क्रमांक 30 पर भानपुरी से करीब 12 किमी दूर कोण्डागांव जिले के ग्राम उसरी के निकट कार अनियंत्रित होकर पेड़ से जा टकरायी जिससे यह दुर्घटना हुई.


सूत्रों का कहना है कि हादसे में डॉ. कांवड़े, उनकी माता और उनकी पत्नी ने घटनास्थल पर ही दम तोड़ दिया, जबकि उनके दो वर्षीय पुत्र अनूप की सांसें हादसे के बाद भी चल रही थी. एक राहगीर ने इंसानियत दिखाते हुए बच्चे को अस्पताल पहुँचाने की कोशिश भी की लेकिन समय पर वाहन न मिलने के चलते बच्चे की जान भी नहीं बचाई जा सकी.

घटना की जानकारी मिलते ही जगदलपुर सहित कोण्डागांव में हड़कंप मच गया और कोण्डागांव तथा भानपुरी से तत्काल एम्बुलेंस व संजीवनी 108 एम्बुलेंस घटनास्थल पर पहुंची लेकिन तब तक बहुत देर हो चुकी थी.

इसके बाद उनके मृतदेह को दुर्घटनाग्रस्त वाहन से निकाल कर कोण्डागांव स्थित आरएनटी अस्पताल लाया गया, जहां चिकित्सकों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया. इस घटना की खबर मिलते ही प्रदेश के मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह सहित प्रदेश के जनप्रतिनिधिगण एवं अफसरों ने संवेदना व्यक्त की है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!