जेटली को राजन की निंदा पसंद नहीं

नई दिल्ली | समाचार डेस्क: वित्त मंत्री जेटली ने एक टीवी मीडिया पर साक्षात्कार के दौरान कहा उन्हें आरबीआई गवर्नर की व्यक्तिगत आलोचना पसंद नहीं है. जेटली ने टिप्पणी की कि उन्हें किसी की भी व्यक्तिगत आलोचना पसंद नहीं है. हालांकि उन्होंने आरबीआई गवर्नर राजन को फिर से नियुक्ति देने के सवाल को टाल दिया तथा कहा ऐसी बातों की घोषणा टीवी चैनलों पर नहीं की जाती है.

उल्लेखनीय है कि इस बात के कयास लगाये जा रहें हैं कि एनडीए सरकार रघुराज राजन के कार्यकाल खत्म होने के बाद किसी दूसरे को इस पद पर नियुक्त कर सकती है. कुछ लोगों ने तो बकायदा राजन के पक्ष में मुहिम चला रखी है. वहीं सुब्रमण्यम स्वामी लगातार राजन के ख़िलाफ़ आरोप पर आरोप लगा रहें हैं. स्वामी का आरोप है कि राजन ही देश की आर्थिक मंधी के लिये जिम्मेदार हैं.


केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली ने गुरुवार को कहा कि वह भाजपा द्वारा नामित राज्यसभा सांसद सुब्रमण्यम स्वामी द्वारा आरबीआई के गवर्नर रघुराम राजन पर व्यक्तिगत हमले की आलोचना करते हैं.

जेटली ने एनडीटीवी से कहा, “मैं आरबीआई गवर्नर तो क्या किसी पर भी व्यक्तिगत टिप्पणी को पसंद नहीं करता.”

स्वामी ने गुरुवार को एक बार फिर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से रघुराम राजन को भारतीय रिजर्व बैंक गवर्नर पद से हटाने की मांग की.

प्रधानमंत्री को लिखे पत्र में स्वामी ने एक सरकारी अधिकारी के रूप में राजन और उनके तौर-तरीकों के विरुद्ध छह आपत्तियां दर्ज की.

स्वामी ने राजन पर अन्य आरोपों के अलावा ब्याज दर बढ़ाने (जिसके कारण स्वामी के मुताबिक मंदी पैदा हुई), गोपनीय और संवेदनशील वित्तीय सूचनाएं दुनियाभर में विभिन्न लोगों को देने और भाजपा सरकार का सार्वजनिक तौर पर अपमान करने का आरोप लगाया.

स्वामी ने राजन पर भारत सरकार के संवेदनशील और उच्चस्थ पद पर रहने के बावजूद अमरीकी ग्रीन कार्ड रखने, शरिया अनुरूप वित्तीय संस्थान स्थापित करने पर बल देने और अमरीकी वर्चस्व वाले ‘ग्रुप ऑफ 30’ का सदस्य होने का भी आरोप लगाया.

गत महीने राज्यसभा सदस्य नामित होने के बाद से स्वामी लगातार राजन पर हमला कर रहे हैं.

राजन का कार्यकाल तीन सितंबर को समाप्त हो रहा है. आरबीआई गवर्नर पद पर उन्हें संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन सरकार ने नियुक्त किया था.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!